न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में छोटे-बड़े आपराधिक गैंग वसूल रहे हैं रंगदारी, रांची सहित राज्य के अन्य जिलों से भी हर महीने उठा रहे मोटी रकम

2,055

Saurav Singh

Ranchi: झारखंड में हाल के कुछ महीनों में अपराधियों के द्वारा रंगदारी मांगने की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. अपराधी बेलगाम हो गये हैं. झारखंड में सक्रिय छोटे से लेकर बड़े आपराधिक गैंगों के द्वारा बड़े पैमाने पर व्यवसायी, नेता और ठेकेदारों से रंगदारी मांगी जा रही है. नहीं देने पर जान से मारने की धमकी और हमला भी करवाया जा रहा है. रंगदारी मांगने की घटना कई घटनाओं का पुलिस को पता चलता भी है लेकिन कई ऐसे मामले हैं जब लोग डर से पुलिस को बताने से भी डरते हैं.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें – मीठी क्रांति में खटास: CM की घोषणा 10 हजार किसानों को बांटेंगे मधु बॉक्स, हकीकत में मात्र 118 को ही मिलेगा

छोटे-बड़े आपराधिक गैंग मांग रहे हैं रंगदारी

झारखंड के रांची, बोकारो, रामगढ़, धनबाद और जमशेदपुर के अलावा राज्य अन्य जिलों के बड़े व्यवसायियों, कोयला कारोबारियों एवं रेललाइन, सड़क और पुल निर्माण करने वाली कंपनियों से छोटे और बड़े अपराधियों के द्वारा रंगदारी की मांग की जा रही है और इसकी वसूली भी की जा रही है. रांची सहित राज्य के अन्य जिलों से भी हर माह मोटी रंगदारी उठा रहे हैं. आपराधिक संगठन सिम बदल-बदल कर रंगदारी मांग रहे हैं.

झारखंड में जेल के अंदर से अपराधी मांग रहे रंगदारी

झारखंड के बड़े अपराधी जेल में बंद रह कर भी सक्रिय हैं. जेल में होते हुए भी रंगदारी मांग रहे हैं. ऐसे कई अपराधी हैं, जिन पर पुलिस की स्पेशल ब्रांच ने नजर रखी है. मिली जानकारी मुताबिक, दुमका जेल में बंद अनिल शर्मा, रामगढ़ जेल में बंद सुहेल अहमद, रांची जेल में बंद अपराधी लवकुश शर्मा, पलामू जिले में बंद विकास तिवारी, जमशेदपुर जेल में बंद अखिलेश सिंह का शूटर कन्हैया सिंह और जमशेदपुर जेल में बंद कुख्यात अपराधी सुजीत सिन्हा समेत दर्जन भर अपराधी जेल से ही रंगदारी मांग रहे हैं. जेल में जैमर लगे होने के बावजूद अपराधी इसका गलत इस्तेमाल करके आराम से वसूली कर रहे हैं.

आर्थिक अपराध की घटनाओं में हुई है बढ़ोतरी

झारखंड में आर्थिक अपराध की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. अपराधी बेलगाम हो गये हैं. अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम देकर फरार हो जा रहे हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग रही. पिछले तीन महीने में झारखंड में लूट की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. इस दौरान अपराधियों ने लगभग डेढ़ करोड़ रुपये लूट लिये. अपराधियों के निशाने पर मुख्य रूप से बैंक और एटीएम हैं. हालांकि लूट की कुछ घटनाओं का पुलिस ने उद्भेदन भी किया, लेकिन लूटे गये रुपयों की बरामदगी नहीं हो पायी है.

Related Posts

#Durgapur  : चोरी हुई 17 मोटरसाइकिलें वीरभूम से बरामद, दो आरोपी गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपियों में बीरभूम निवासी शेख राजा उर्फ शेख अशरफुद्दीन एवं बीरभूम के दुबराजपुर के इलाका निवासी शेख बाबर अली शामिल हैं.

WH MART 1

इसे भी पढ़ें – गुमला, लोहरदगा व लातेहार में व्यवसायियों-ठेकेदारों के लिए खौफ बना JJMP, वसूल रहा सबसे ज्यादा लेवी

रामगढ़ जेल में बंद सुहेल अहमद ने नेता, अफसर और व्यवसायी से मांगी रंगदारी

रामगढ़ जेल में बंद सोहेल अहमद ने रांची के कुछ बड़े व्यवसायी और चर्चित व्यक्तियों तथा कुछ नेताओं से रंगदारी मांगी है. इतना ही नहीं सोहेल अहमद ने रामगढ़ जेल में बंद होते हुए भी महत्वपूर्ण पद पर बैठे एक अधिकारी से दो करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी है, जिसके बाद पूरे पुलिस महकमे में खलबली मच गयी है. पिछले 4 दिनों के दौरान सुहेल अहमद ने रांची के 30 से अधिक व्यवसायियों से 1 से 5 करोड़ के बीच की रंगदारी की मांग की है.

ट्रांसपोर्टर सोनू अग्रवाल से पप्पू लोहरा ने मांगी लेवी

9 अगस्त को बालाजी ट्रांसपोर्ट और रोडवेज के मालिक अमित अग्रवाल उर्फ सोनू अग्रवाल से पप्पू लोहरा के द्वारा फोन पर लेवी मांगी गयी है. पप्पू लोहरा ने सोनू अग्रवाल को फोन पर कहा कि लेवी के रूप में जो रुपये मांगे गये हैं, उसे दो नहीं तो जान भी जा सकती है. इतना ही नहीं पप्पू लोहरा ने मैसेज करके भी कहा कि पहले 16 वाहनों को आग के हवाले किया था, अब तेरे कंपनी के 16 आदमियों को मारेंगे. जिसके बाद बालाजी ट्रांसपोर्ट और रोडवेज के मालिक अमित अग्रवाल ने पुलिस उप महानिरीक्षक झारखंड, एडीजी स्पेशल ब्रांच, पुलिस अधीक्षक एनआइए, पुलिस अधीक्षक रांची और पुलिस अधीक्षक हजारीबाग को पूरी घटना की जानकारी दी. उन्होंने अपनी और अपनी कंपनी के कर्मचारियों की सुरक्षा की गुहार लगायी है. साथ ही धमकी देनेवाले लोगों पर कार्रवाई की मांग की है. गौरतलब है कि पप्पू लोहरा प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेजेएमपी का सुप्रीमो है.

अनिल शर्मा ने रांची के कई व्यवसायियों से की थी रंगदारी की मांग

दुमका जेल में बंद होने के बाद भी अनिल शर्मा अपना साम्राज्य चला रहा है. जेल की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए फोन से ही रांची के व्यवसायी से रंगदारी वसूल रहा है. जेल की व्यवस्था पर सवाल उठने लगते हैं. अनिल शर्मा ने फोन से रांची के एक व्यवसायी से रंगदारी मांगी थी. 13 जुलाई 2019 जेल में बंद अपराधी अनिल शर्मा के राइट हैंड डब्ल्यू सिंह उर्फ डब्ल्यू शर्मा को पुलिस ने रेलवे ठेकेदार की हत्या की योजना बनाने के मामले में गिरफ्तार किया था. डब्ल्यू ने बताया कि अनिल शर्मा के कहने पर उसने तीन ठेकेदारों से 20-20 लाख की रंगदारी मांगी थी.

इसे भी पढ़ें – जियो फाइबर के लिए बहुत चालाकी के साथ रास्ता साफ किया गया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like