DhanbadJharkhandRanchi

धनबाद के छोटे-बड़े 1225 कोयला व्यवसायियों ने दबा रखा है सरकार का पैसा

Ranchi: धनबाद के छोटे-बड़े 1225 कोयला व्यवसायियों ने सरकार का करोड़ों रुपये दबा रखा है. यह बकाया राशि ज्यादातर स्वामित्व से संबंधित है. जिला निलाम पत्र पदाधिकारी की ओर से उन्हें कई बार नोटिस भी दिया गया परंतु बकाया देने को लेकर देनदार की तरफ से किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गयी है. ज्यादातर बकायेदारों के खिलाफ क्लेम केस का मामला दायर किया जा चुका है. दबाव के बाद कुछ लोगों ने बकाया जमा भी किया है, पर उसकी संख्या काफी कम है. यह मामला सूचना अधिकार के जरिये सामने आया है.

बकायेदारों ने सही पता भी नहीं दिया

ज्यादातर बकायेदारों ने अपना पता भी गलत बता दिया है. जिस वजह से बकायेदारों को नोटिस देने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. 50 फीसदी ऐसे बकायेदार हैं जिन्होंने अपना पता गलत बताया है. जिला निलाम पत्र पदाधिकारी को इन बकायेदारों को नोटिस देने में पसीना छूट रहा है.

इसे भी पढ़ेंः  1214 खिलाडियों पर IPL ऑक्शन में लगेगा दांव, भारत के 896 और विदेश के 318 खिलाडी होंगे शामिल

सभी बकायेदारों पर केस दर्ज

बकाया नहीं चुकाने वाले सारे बकायेदारों के खिलाफ जिला नीलाम पत्र पदाधिकारी ने सर्टिफिकेट केस दर्ज कर दिया है. 50 से अधिक देनदारों के खिलाफ कुर्की वारंट भी जारी किया गया है.

तीन दशकों से चल रहा है बकाया

बकायेदारों की सूची में ज्यादातर बकायेदार ऐसे हैं जो तीन दशकों से बकाया नहीं चुकाया है और उन पर मामला चल रहा है.

देनदारों के नाम बकाया राशि भुगतान की गयी राशि
मेसर्स कुआ कोलियरी प्रालि झरिया 198167.72 12926.82
ब्राइट कुसुंडा कोलियरी 160642.04 9112.5
बेरा कोलियरी झरिया 237446.39 36362
वास्तकोला कोलियरी झरिया 105523.72 22200
नॉर्थ बैजना कोलियरी धनबाद 262698.28 0
महता ब्रदर्स खास निरसा कोलियरी निरसाचट्टी धनबाद 130282.75 0
ईस्ट इंडिया कोल कं हरिजामपुर जेलगोड़ा 124288.26 0
वेस्टर्न कोलफिल्ड बैजना कोलियरी धनबाद 428632.19 0
ओरिएंटल कोल कंपनी बैजना कोलियरी धनबाद 762891.12 46000
सर्वश्री ओरिएंटल कोल कंपनी बैजना कोलियरी निरसाचट्टी धनबाद 2325212.11 75000
खेमजी दोखा एंड कंपनी कतरासगढ़ धनबाद 329209.55 0
कृष्णा कोलियरी कं प्रालि कुमारधुबी धनबाद 511764 0

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह के मधुबन और खुखरा में नक्सलियों ने उड़ाया मोबाइल टावर

Advt

Related Articles

Back to top button