न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी : मोबाइल कंपनी का केबल डाल रहे छह मजदूरों की मिट्टी में दबकर मौत

कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज, सुपरवाइजर व मशीन संचालक गिरफ्तार

508

Bareilly (UP) : बरेली शहर में पीलीभीत बाईपास पर एक मोबाइल कंपनी का केबल डालने के लिए सड़क किनारे गड्ढे में उतरे आठ मजदूर अचानक मिट्टी धंसने से दब गए. हादसे में छह लोगों की मौत हो गयी. वहीं कुछ लोगों को सही सलामत मिट्टी के नीचे से निकाल लिया गया है. पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को यहां बताया कि पीलीभीत बाईपास पर एक स्कूल के सामने मोबाइल की केबल बिछाने के लिए सोमवार को रात खोदाई के दौरान मिट्टी का टीला अचानक मजदूरों पर गिर गया, जिसमें आठ लोग दब गए.

इसे भी पढ़ें- रांची ‘सुसाइड’ कांड में पुलिस की थ्योरी- दीपक और उसके भाई ने पहले परिवार के पांच सदस्यों की हत्या की, फिर दोनों ने लगा ली फांसी

घटना में इनकी हुई मौत

इस घटना में हाबू (40), मोहिरुल (20), नजीमुल (22), नजीम (25), कौसर (27) और हसन (30) नामक मजदूरों की मौत हो गयी. हादसे में घायल दो अन्य मजदूरों का इलाज किया जा रहा है. जिलाधिकारी वीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मामले की मजिस्ट्रेट से जांच कराने के आदेश दिए गए हैं. पुलिस और नगर निगम की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए मौके पर पहुंची और लोगों को बचाने की कोशिश की. कुछ लोगों को जिंदा निकाला गया. हांलाकि वो बेहोशी की हालत में बाहर निकाले गए थे. घायल सभी लोगों को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया. वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया.

इसे भी पढ़ें- पहाड़ी मंदिर : रांची प्रशासन और समिति के बीच हुआ विवाद, उर्मिला कंस्ट्रक्शन ने उठाया फायदा

कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज, सुपरवाइजर व मशीन संचालक गिरफ्तार

हादसे के शिकार लोग पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर के निवासी बताए जाते हैं. पुलिस ने केबल बिछाने वाली पंजाब की कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पुलिस ने कंपनी के सुपरवाइजर धीर सिंह और और ड्रिल मशीन संचालक अंशुल को गिरफ्तार कर लिया है.

इसे भी पढ़ें- अखबार ने 2017 के सर्वे को ताजा सर्वे बताकर रघुवर दास को बताया सबसे पसंदीदा मुख्यमंत्री

इसे भी पढ़ें- अडानी पावर प्लांट के लिए जमीन नहींं देने वाले रैयतों की अाजीविका संकट में

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: