न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जाड़े में भी बढ़ा मेदिनीनगर निगम का तापमान, छह ब्रांड एंबेसडरों ने दिया इस्तीफा

1,491

Palamu: पलामू जिले में पड़ रही कड़ाके की ठंड में भी मेदिनीनगर नगर निगम में तकरार का तापमान काफी बढ़ा हुआ है. निगम के सभागार में कर्मचारियों द्वारा कार्यपालक पदाधिकारी अजय साव का ‘बर्थ डे’ मनाने के बाद से शुरू हुई गरमा-गरमी अब काफी आगे तक बढ़ गयी है. आरोप-प्रत्यारोप का जो सिलसिला शुरू हुआ है, वह थमने का नाम नहीं ले रहा है. इसी क्रम में कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा उनकी निजता सार्वजनिक करने का आरोप लगाकर झारखंड चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष रंजीत कुमार मिश्रा के खिलाफ साइबर थाना में मामला दर्ज कराया गया. कार्यपालक पदाधिकारी और मेयर एक दूसरे के ऊपर अपना प्रभाव बनाने का खूब प्रयास कर रहे हैं.

हर दिन निगम में हो रहे तकरार के चर्चे

प्रत्येक दिन नगर निगम में कुछ ऐसा हो रहा है, जिसकी चर्चा दिन भर शहर में हो रही है. मंगलवार से निगम क्षेत्र के अधिकतर वार्ड पार्षदों ने स्पष्ट तौर पर मेयर अरूण शंकर और डिप्टी मेयर मंगल सिंह पर आरोप लगाते हुए मोर्चा खोल दिया है. वार्ड पार्षदों का आरोप है कि मेयर से मिलना, उन लोगों के लिए अब मुश्किल हो गया है. निगम में कोई कार्य नहीं हो पा रहा है, जिससे उनकी वार्ड क्षेत्र में काफी फजीहत हो रही है. इसके 24 घंटा के अंदर ही मेयर द्वारा स्वच्छता के लिए थोक के भाव में बनाये गये ब्रांड एंबेसडरों ने कार्यपालक पदाधिकारी पर तिरस्कार का आरोप लगाते हुए त्यागपत्र दे दिया. इससे निगम फिर से चर्चा में आ गया.

इन ब्रांड एम्बेसडरों ने दिया इस्तीफा

त्यागपत्र देने वाले ब्रांड एंबेसडरों में कृष्ण प्रसाद अग्रवाल, इन्द्रजीत सिंह डिम्पल, उदय शंकर ओझा, राजदेव उपाध्याय, प्रदीप कुमार बाबुल, विनित कुमार सिंह शामिल हैं. ब्रांड एंबेसडरों का कहना है कि मेयर ने नगर निगम क्षेत्र में उन लोगों को स्वच्छता के प्रचार-प्रसार के लिए स्वैच्छिक और अवैतनिक रूप में नियुक्त किया था. लेकिन उनकी उपेक्षा हो रही है.

कार्यपालक पदाधिकारी के निरादर से आहत हैं 

ब्रांड एंबेसडरों ने आरोप लगाया कि स्वच्छता कार्यक्रम का उन लोगों द्वारा ईमानदारी पूर्वक निर्वहन किया जा रहा था.  लेकिन कार्यपालक पदाधिकारी अजय साव द्वारा निरादर के कारण वे सभी आहत हैं. उन्होंने कहा कि झारखंड चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष रंजीत कुमार मिश्रा पर कार्यपालक पदाधिकारी ने झूठे और गलत तरीके से साईबर थाना में मामला दर्ज कराया है. इससे भी उन्हें गहरा झटका लगा है. बांड एंबेसडरों ने मेयर के प्रति आस्था व्यक्त करते हुए कहा कि वे भविष्य में मेयर द्वारा जनहित में किये जाने वाले सभी कार्यो में जरूरत के अनुसार अपनी सहभागिता निभायेंगे.

निगम ने नहीं बनाया उन्हें स्वच्छता ब्रांड एम्बेसर: कार्यपालक पदाधिकारी

नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी अजय साव ने कहा कि इस्तीफा देने वाले आधा दर्जन स्वच्छता ब्रांड एम्बेसर निगम की ओर से नियुक्ति नहीं किए गये थे. निगम की ओर से उन्हें किसी तरह का पत्र जारी नहीं किया गया था. उन्हें ब्रांड एम्बेसर किसने बनाया और उन्होंने किसे इस्तीफा दिया, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है.  जहां तक बात उनके अनादर की है तो उनसे उनकी कभी भेंट तक नहीं होती. अगर वे स्वच्छता ब्रांड एम्बेसर रहते तो स्वच्छता जागरूकता को लेकर कार्यक्रम चलाते. निगम बनने के बाद से कथित स्वच्छता ब्रांड एम्बेसरों द्वारा किसी तरह कार्यक्रम नहीं किया गया है. और ना ही किसी कार्यक्रम में उन्हें आमंत्रित किया गया है. अगर उनकी नियुक्ति हुई होती तो उन्हें इसकी जानकारी जरूर रहती.

इसे भी पढ़ेंः राज्य सरकार ने केंद्र को सौंपी रिपोर्ट, कहा- एक भी मौत नहीं हुई भूख से

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: