न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कश्मीर में स्थिति तनावपूर्णः धारा 144 लागू, पूर्व सीएम महबूबा और अब्दुल्ला हाउस अरेस्ट, इंटरनेट सेवाएं बंद

पीएम आवास पर सीसीएस की बैठक, कश्मीर पर बड़ा फैसला लेने के कयास.

1,507

Shrinagar: जम्मू-कश्मीर में क्या होनेवाला है, हर किसी के जहन में यही सवाल है. फिलहाल राज्य में हालत तनावपूर्ण है. 10 हजार जवानों की तैनाती से शुरू हुए उहापोह की स्थिति अब भी बरकरार है.

धारा 144 लागू

वहीं रविवार रात को राज्य में घटनाक्रम तेजी से बदले हैं. श्रीनगर और जम्मू में सुरक्षा के मद्देनजर धारा 144 लागू कर दी गई है. आम लोगों को बाहर ना निकलने के लिए कहा गया है. घाटी में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है.

सिर्फ जम्मू में ही CRPF की 40 कंपनियों को तैनात किया गया है. इससे पहले कश्मीर में ही हजारों की संख्या में अतिरिक्त सुरक्षाबल पहले से ही तैनात किए जा चुके थे.

इसके साथ ही महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुला, सज्जाद लोन को नजरबंद कर दिया गया. दोनों ही नेताओं ने रात को ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी दी, दोनों ही नेता लगातार ट्वीट कर अपील कर रहे थे कि सरकार को साफ करना चाहिए कि कश्मीर में क्या हो रहा है.

इलाके में मोबाइल और इंटरनेट सेवा भी पूरी तरह से बंद है. सुरक्षा के बड़े अधिकारियों को सटेलाइट फोन दिये गये हैं. इसके अलावे स्कूल-कॉलेज बंद है. यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं फिलहाल के लिए टाल दी गयी है. विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों ने भी विद्यार्थियों को छात्रावास खाली करने का निर्देश दिया है.

थोड़ी देर में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक

कश्मीर में इस तरह से बदलते हालात के बाद पूरे देश की नजर घाटी पर है. अफवाहों का बाजार भी गर्म है. लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं, कि आखिर कश्मीर में क्या होने वाला है.

इन सबके बीच दिल्ली में पीएम आवास में थोड़ी ही देर में सीसीएस की मीटिंग होनेवाली है. माना जा रहा है कि इस बैठक में जम्मू-कश्मीर को लेकर बड़ा फैसला लिया जा सकता है.

वहीं इस बैठक से पहले पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और एनएसए अजित डोभाल की मीटिंग चल रही है. गौरतलब है कि अमूमन कैबिनेट की बैठक बुधवार को होती है. लेकिन सोमवार को ही ये मीटिंग होनेवाली है. ऐसे में किसी बड़े फैसले के कयास लगाये जा रहे हैं.

कई तरह की अफवाहें

कश्मीर में तेजी से बदलेत घटनाक्रम को लेकर लोगों के जहन में एक ही सवाल उठ रहे हैं, कि कश्मीर में होने क्या जा रहा है. वहीं कई तरह की अफवाहें भी है.

माना जा रहा है कि 35A को हटाने के लिए ये सब किया जा रहा है. कयास ये भी लग रहे हैं कि राज्य को तीन राज्यों में बांटा जायेगा. इसलिए इतनी तैयारी की गयी है.

कई नेता नजरबंद

पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को हाउस अरेस्ट किया गया है. नेशनल कांफ्रेंस के नेता अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘मुझे लगता है कि मुझे आज आधीरात से घर में नजरबंद किया जा रहा है और मुख्यधारा के अन्य नेताओं के लिए भी यह प्रक्रिया पहले ही शुरू हो गई है. इसकी सच्चाई जानने का कोई तरीका नहीं है लेकिन अगर यह सच है तो फिर आगे देखा जाएगा.’’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘कश्मीर के लोगों के लिए हमें नहीं मालूम कि क्या चल रहा है लेकिन मुझे पूरा भरोसा है कि अल्लाह ने जो भी सोचा है वह हमेशा बेहतर होगा, हमें यह शायद अभी नजर न आए लेकिन हमें कभी उनके तरीकों पर शक नहीं करना चाहिए। हर किसी को शुभकमानाएं, सुरक्षित रहे और सबसे जरुरी कृपया शांति बनाए रखें.’’

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा बीच में ही समाप्त करने और तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों से जल्द से जल्द घाटी छोड़ने के लिए कहे जाने के बाद परेशान स्थानीय लोग घरों में जरूरी सामानों का स्टॉक करने के लिए दुकानों और ईंधन स्टेशनों पर बड़ी-बड़ी लाइनों में खड़े नजर आए.

शहर में सचिवालय, पुलिस मुख्यालय, हवाई अड्डे, केंद्र सरकार के विभिन्न प्रतिष्ठानों जैसे अहम प्रतिष्ठानों के आसपास सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ा दी गई है. शहर में आने वाली सड़कों पर बैरीकेड लगाए गए हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: