Crime NewsLead NewsNationalTOP SLIDER

चीन में बैठकर भारतीय सिम से कर रहे थे बैंक एकाउंट खाली, चीनी नागरिक की गिरफ्तारी से हुआ खुलासा

अंडरग्रामेंट्स में 1300 भारतीय सिम कार्ड छिपाकर चीन ले गया था हान जुनवे

Uday Chandra Singh

New Delhi: बांग्लादेश सीमा से भारत में घुसपैठ की कोशिश करने की कोशिश में गिरफ्तार किये गये चीनी नागरिक ने बड़ा खुलासा किया है. हान जुनवे नाम के इसी चीनी नागरिक ने बताया है कि बीते दो वर्षों में वह करीब 1300 भारतीय सिम कार्ड स्मगलिंग करके चीन ले जा चुका है. बीएसएफ और दिल्ली से पहुंची खुफिया एजेंसियों की पूछताछ में हान जुनवे ने बताया कि चीन में इन सिम कार्ड्स से भारत के अहम बैंक एकाउंट्स को हैक करने और फाइनेंशियल फ्रॉड्स में इस्तेमाल किया जाता था.

 

advt

बीएसएफ ने हान जुनवे से लंबी पूछताछ के बाद उसे पश्चिम बंगाल पुलिस को सौंप दिया है. अब आगे की कानूनी कार्रवाई पश्चिम बंगाल पुलिस ही करेगी. इस बावत मालदा जिले के कालियाचक इलाके की एक थाने में उसपर प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

इसे भी पढ़ें :शिवहर बना बिहार का पहला जिला जहां आज से पंचायतों की परामर्शी समितियां शुरू करेंगी काम

गुरुग्राम में स्टार-स्प्रिंग होटल की आड़ में करते थे जासूसी

माना जा रहा है कि हान की गिरफ्तारी के बाद भारत में कई बड़े आर्थिक धोखाधड़ी का खुलासा हो सकता है। बताया गया है कि  हान जुनवे ने साल 2019 में गुरुग्राम में अपने एक बिजनेस पार्टनर, सुन जियांग के साथ स्टार-स्प्रिंग नाम का एक बड़ा होटल खोला था. लेकिन ये दोनों इस होटल की आड़ में जासूसी और भोले-भाले भारतीयों के साथ आर्थिक धोखाधड़ी का काम करते थे.

बीएसएफ के मुताबिक, फर्जी दस्तावेजों के आधार पर ये दोनों भारतीय सिम कार्ड खरीदते थे. उसके बाद अंडरग्रामेंट्स में इन सिम-कार्ड्स को छिपाकर चीन ले जाते थे. चीन में इन सिम-कार्ड्स का इस्तेमाल एकाउंट्स को हैक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता था. हालांकि, अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि किस तरह के भारतीय एकाउंट्स को हैक करने का काम हान जुनवे और सुन जियांग करते थे.

इसे भी पढ़ें :रांची में 100 हाइवा डंप बालू जब्त, बुंडू में पुलिस की बड़ी कारवाई

सहयोगी सुन जियांग को यूपी पुलिस ने किया था गिरफ्तार

बीएसएफ के मुताबिक, कुछ समय पहले हान जुनवे के सहयोगी सुन जियांग को यूपी पुलिस की एंटी-टेरेरिस्ट स्कॉवयड (एटीएस) ने फर्जी तरीके से सिम-कार्ड खरीदने के आरोप में गिरफ्तार किया था. इस मामले में हान जुनवे और उसकी पत्नी भी सह-आरोपी हैं. हान के खिलाफ तो ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी करने की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी थी. लेकिन उसस पहले गैर-कानूनी तरीके से बांग्लादेश बॉर्डर के जरिए भारत में दाखिल होते हुए बीएसएफ ने हान को मालदा जिले के सुल्तानपुर बीओपी (बॉर्डर ऑउट पोस्ट) यानि चौकी के करीब से धर-दबोचा था.

इसे भी पढ़ें :एचईसी प्लांट परिसर से करीब 42 लाख रुपये का पीतल चोरी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: