न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#CAA पर मचे बवाल के बीच सीतारमण ने कहा, पिछले छह सालों में मुस्लिमों सहित 3924 शरणार्थियों को दी गयी भारतीय नागरिकता

6 सालों में 2838 पाकिस्तानी शरणार्थियों, 914 अफगानिस्तानी शरणार्थियों और 172 बांग्लादेशी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी गयी, जिनमें मुस्लिम समुदाय के लोग भी शामिल हैं.

43

Chennai : भारत में संशोधित नागरिकता कानून(CAA) के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन के बीच रविवार को केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चेन्नई में आयोजित एक कार्यक्रम में जानकारी दी कि पिछले 6 सालों के दौरान 2838 पाकिस्तानी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : #Ramchandra_Guha के राहुल पर तंज, मोदी की तारीफ से कांग्रेस नाराज, थरूर का जवाब, राहुल के पास वैकल्पिक दृष्टिकोण

Aqua Spa Salon 5/02/2020

2838 पाकिस्तानी शरणार्थियों को मिली नागरिकता

वित्त मंत्री ने कहा कि बीते 6 सालों में 2838 पाकिस्तानी शरणार्थियों, 914 अफगानिस्तानी शरणार्थियों और 172 बांग्लादेशी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी गयी, जिनमें मुस्लिम समुदाय के लोग भी शामिल हैं. इस क्रम में कहा कि 1964 से लेकर 2008 तक चार लाख से ज्यादा श्रीलंकाई तमिलों को भारत की नागरिकता दी गयी है.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि 2014 तक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के 566 से ज्यादा मुस्लिमों को भारत की नागरिकता दी गयी. कहा कि 2016-18 के दौरान मोदी सरकार में पाकिस्तान के 1595 शरणार्थियों और 391 अफगानी मुस्लिमों को नागरिकता दी गयी. सीतारमण ने कहा कि 2016 में अदनान सामी को नागरिकता दी गयी. कहा कि तस्लीमा नसरीन का उदाहरण भी हमारे सामने है.

इसे भी पढ़ें : #CAA पर कपिल सिब्बल के बाद सलमान खुर्शीद ने कहा, राज्य मना नहीं कर सकते, SC के फैसले का इंतजार करें

सरकार किसी की नागरिकता नहीं छीन रही है

वित्त मंत्री ने कहा कि जो लोग पूर्वी पाकिस्तान से देश में आये उन्हें विभिन्न कैंपों में ठहराया गया है. उन्होंने कहा कि वे लोग अभी भी वहीं है और 50-60 साल बीत चुके है. यदि आप उन कैंपों में जायेंगे तो आपका दिल पसीज जायेगा. सीतारमण ने ने कहा कि श्रीलंका से आये शरणार्थियों का भी हाल ऐसा ही है. वे सभीआधारभूत सुविधाओं से भी वंचित हैं.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

CAA को लेकर निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार किसी की नागरिकता नहीं छीन रही है. CAA उन लोगों को एक अच्छा जीवन देने की पहल है. हम किसी की नागरिकता नहीं छीन रहे हैं. हम सिर्फ नागरिकता दे रहे हैं.

कुछ लोग अफवाह फैलाकर बेवजह लोगों को भड़का रहे हैं

NPR पर भी सीतारमण ने सरकार का पक्ष रखा, उन्होंने कहा कि नेशनल पॉप्युलेशन रजिस्टर (NPR) हर 10 साल में अपडेट किया जाता है. इसका NRC से कोई संबंध नहीं है. आरोप लगाया कि कुछ लोग अफवाह फैलाकर बेवजह लोगों को भड़का रहे हैं.

जान लें कि CAA को लेकर सरकार को काफी विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ रहा है. देश के अलग-अलग हिस्सों में लोग इस कानून के खिलाफ सड़कों  पर उतरकर कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : देश में कोयले की कमी दूर करने की कवायद, सरकार कर रही 100 #Coal_Blocks नीलाम करने की तैयारी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like