न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएनटी-एसपीटी एक्ट उल्लंघन मामले में बनी एसआईटी की रिपोर्ट सार्वजनिक करे सरकार, पूरे प्रकरण की हो सीबीआई जांच : झामुमो

521

Ranchi : जिस तरह से रोज समाचारपत्रों में खबरें आ रही हैं, वह काफी गंभीर है. खासकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता को डॉक्टर की उपाधि मिली है, लेकिन उनके गलत कामों के कारण उनका लाइसेंस रद्द कर दिया गया. आज वह भाजपा जैसी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता बनकर जगह-जगह घूम रहे हैं. दिल्ली में भी बैठ रहे हैं. उक्त बातें झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहीं.

उन्होंने कहा कि अपने झारखंड दौरे के दौरान डॉ. संबित पात्रा ने बहुत सारे सवाल झामुमो पर उठाये हैं. सबसे गंभीर सवाल उन्होंने झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन और पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन पर उठाया है. उन्होंने कहा कि जमीन का बहुत बड़ा कारोबार किया गया है. सीएनटी-एसपीटी एक्ट का उल्लंघन किया गया है.

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि हमलोग शुरू से मांग करते रहे हैं कि सरकार ने इसी सवाल पर 2015 में तत्कालीन मुख्य सचिव की अध्यक्षता में जिस एसआईटी का गठन किया था, सरकार उसकी रिपोर्ट सार्वजनिक करे. सरकार उस रिपोर्ट को आधार बनाकर संपूर्ण प्रकरण की सीबीआई से जांच करवाये. यदि सरकार ऐसा नहीं करती है, तो 2019 में झामुमो के सत्ता में आते ही सीबीआई जांच की अनुशंसा की जायेगी. भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य सरकार यहां के आदिवासियों के अलगाव का भ्रम फैलाकर साजिश रचने का काम कर रही है. झामुमो इसकी कड़े शब्दों में निंदा करता है.

इसे भी पढ़ें- भाजपा ने हेमंत और बाबूलाल के खिलाफ खोला मोर्चा, जेवीएम ने कहा – बीजेपी का फाइनल काउंटडाउन जनता…

सजायाफ्ता लोगों को महिमामंडित करना भाजपा का असल चाल-चरित्र

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर पिछले साल रामगढ़ में हुई मॉब लिंचिंग की घटना में पूरे देश में उदाहरण पेश किया गया कि सबसे कम समय में ट्रायल कर इसके दोषियों पर कार्रवाई की गयी और उन्हें आजीवन कारावास की सजा मिली. इन सबके बीच सबसे हास्यास्पद है कि जब उन्हें झारखंड हाई कोर्ट से बेल मिलने के बाद जेल से बाहर आये, तो सत्तासीन पार्टी के ही मंत्री जयंत सिन्हा ने अभियुक्तों को माला पहनाकर मिठाई खिलायी और कहा कि यह गर्व की बात है. सुप्रियो ने कहा कि सजायाफ्ता लोगों को महिमामंडित करना भारतीय जनता पार्टी का असल चाल-चरित्र और चेहरा साफ दिखाता है.

इसे भी पढ़ें- सोरेन परिवार ने CNT-SPT एक्ट का उल्लंघन किया है तो जांच कर कार्रवाई करे सरकार, रोका किसने है- जेएमएम

विधायक खरीदकर सरकार बचायी बीजेपी ने

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा तिलमिला गयी है. इनके द्वारा सरकार को बचाने के लिए झाविमो के विधायकों की खरीद-फरोख्त कर उन्हें मंत्री पद से नवाजा गया, जबकि मामला आज भी विधानसभा के स्पीकर की कोर्ट में लंबित है. उसके दस्तावेज झाविमो सुप्रिमो बाबूलाल मरांडी दे रहे हैं, लेकिन सरकार सीबीआई जांच नहीं करवा रही है. भाजपा इस पत्र पर क्यों पलटवार कर रही है कि यह पत्र फर्जी है. फर्जी का फैसला करना सरकार का काम नहीं है, बल्कि जांच एजेंसी का काम है. उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी द्वारा जो पत्र पेश किया गया है, उस पर संज्ञान लेते हुए राज्यपाल आगे आयें. जब तक इसकी संपूर्ण जांच नहीं हो जाती, सभी छह विधायकों को निलंबित कर इस पूरे प्रकरण में शामिल लोगों पर एफआईआर दर्ज की जाये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: