DhanbadJharkhandLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDER

दो महीने से जिंदगी-मौत से संघर्ष कर रहे सिंदरी विधायक इंद्रजीत महतो

अभी से दो से तीन महीने तक और है इलाज की आवश्यकता

Ranchi: सिंदरी विधायक इंद्रजीत महतो अब भी गंभीर चुनौतियों से जूझ रहे हैं. सिकंदराबाद (आंध्र प्रदेश) स्थित सुविता हेल्थ एंड न्यूरो रिहैबिलिटेशन सेंटर में वे अभी एडमिट हैं. स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं का सामना कर रहे हैं. इससे पहले कोरोना संक्रमण के कारण उन्हें 17 अप्रैल को हैदराबाद स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था. महीनेभर से अधिक समय तक कोरोना से उबरने में वे सफल रहे पर इसके बाद न्यूरो संबंधी समस्या सामने आ गयी. 27 मई को उन्हें अस्पताल की सलाह पर न्यूरो सेंटर में एडमिट कराया गया है. अभी जो स्थिति है, उसमें कम से कम अगले 2 से 3 महीने उनका इलाज न्यूरो सेंटर में ही चलेगा. राज्य सरकार अपने स्तर से विधायक के स्वास्थ्य पर नजर बनाये हुए है.

कब क्या हुआ

कोरोना संक्रमित होने पर इंद्रजीत महतो का प्रारंभिक इलाज धनबाद में ही शुरु हुआ था. पर इसमें अपेक्षित परिणाम नहीं निकलने पर उन्हें एयर एंबुलेंस से 17 अप्रैल को हैदराबाद में यशोदा अस्पताल ले जाया गया था. गोमिया विधायक लंबोदर महतो के मुताबिक अभी इंद्रजीत हैदराबाद स्थित न्यूरो रिहैबिलिटेशन सेंटर में जीवन एवं मौत से जूझ रहे हैं. वे अभी चेतन अवस्था में नहीं हैं. यहां पर कोरोना से उबर गये. पर अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से उन्हें बेडसोल हो गया. जख्म गहराने लगा. साथ ही उन्हें हाइपोक्सिया ब्रेन इंजरी हो गयी. जिससे उन्हें न्यूरो रिहैबिलिटेशन सेंटर में भर्ती कराया गया है. उनके मामले पर सरकार और विधानसभा को पहल करनी चाहिये.

advt

इसे भी पढ़ें:सीएम हेमंत ने पकड़ी थी गड़बड़ी, राडार पर पिस्का मोड़ से पलमा और बीजूपाड़ा सड़क निर्माण कराने वाले इंजीनियर व ठेकेदार

जानकारी के मुताबिक जब इंद्रजीत महतो यशोदा अस्पताल में कोरोना ट्रीटमेंट के लिये इलाजरत थे, उस दौरान उन्हें ऑक्सीजन औऱ वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था. 26 मई तक वे वहां एडमिट रहे. इसी दौरान उनके ब्रेन में ऑक्सीजन प्रॉपर तरीके से सप्लाई नहीं होने से न्यूरो संबंधी समस्या आ गयी. वेंटिलेटर से तो उन्हें हटाया जा चुका था पर न्यूरो संबंधी समस्या बढती गयी. स्थिति यह हो गयी कि वे अपने परिजनों तक को ठीक से पहचान नहीं पा रहे थे. इसके बाद अस्पताल के कहने पर उन्हें न्यूरो सेंटर में 27 मई को भर्ती कराया गया है. अभी फिलहाल वे केवल आंखें ही खोल पाते हैं, पैरों में थोड़ी हलचल कर पाते हैं. किसी से बात कर पाने की स्थिति उनकी नहीं दिखती. सेंटर के डॉक्टरों के मुताबिक ऐसे केस में एक-डेढ़ महीने से लेकर 5-6 महीने तक का समय लगता है.

 

भाजपा आजसू ने की है ध्यान देने की मांग

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश सहित भाजपा के कई नेताओं, विधायकों ने राज्य सरकार से उनकी स्थिति पर नजर रखने की मांग की है. आजसू पार्टी के लंबोदर महतो ने भी सीएम हेमंत सोरेन को इस पर ध्यान दिलाया है. धनबाद विधायक राज सिन्हा ने 11 जून को सीएम को लिखी चिट्ठी में आग्रह किया था कि लगभग डेढ़ माह से ज्यादा समय से इंद्रजीत महतो हैदराबाद में इलाजरत हैं. उनका न्यूरो सेंटर में इजाल चल रहा है. इलाज काफी महंगा है. सरकार इस पर ध्यान देते हुए आगे के इलाज की व्यवस्था अपने हाथों में ले.

इसे भी पढ़ेंःRanchi News :  रांची नगर निगम नहीं करा रहा फॉगिंग, हेल्थ डिपार्टमेंट ने जारी किया एसओपी

सरकार की है नजर

संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने न्यूजविंग से कहा कि वे विधायक के स्वास्थ्य लाभ औऱ जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं. साथ ही विधानसभा सदस्य होने के नाते इलाज पर जरूरी खर्चों का प्रावधान है. यह उनके लिये भी है. उनके हालात पर सरकार की पूरी नजर है.

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: