Jamshedpur

शहर की अंकिता कवि सम्मेलन में पहुंची सिमडेगा, प्रस्तुति को लोगों ने सराहा

Jamshedpuur :  शहर के कदमा की रहने वाली अंकिता सिन्हा राज्य के स्थापना दिवस पर सिमडेगा जिला प्रशासन की ओर से आयोजित कवि सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंची थी. भारतीय तिरंगा गौरव अवार्ड से सम्मानित और गड़तंत्र दिवस पर श्रीनगर लाल चौक पर झंडा फहरा कर देशभक्ति गीत की प्रस्तुति देने वाली वीरांगना अंकिता ने जैसे ही वीर रस की कविताओं की प्रस्तुति देने लगी कि पूरा सभागार दर्शकों की तालियों की गड़-गड़ाहट से गूंजने लगा. अंकिता ने इस गीत से अपनी शुरुआत की…

टूकड़ों में न बिखरो गुलशने ए हिदुस्तान को।

वीरों ने लहू से सींचा है शाने हिदुस्तान को।।

Sanjeevani

हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई ये तो है परिवार खौफनाक मंजर है क्यों।।

क्यों करते अपनों पर वार।

दलदल न बनाओ जुल्मो का ..इस धरती बेजुबान को।।

वीरो ने लहूं से सींचा हैं शाने हिदुस्तान को।।

टुकड़ों में ना बिखरो गुलशने हिदुस्तान को।।

छंद लिखती रहूं देश की शान में

गर्व होता है मुझ को इसी आन में

मैं तो कुछ भी नहीं, फिर भी इतना तो है।

नाम मेरा है भारत की पहचान में।।

कवि सम्मेलन में झारखंड मधुपुर से रोशन हबीबा, रांची से प्रवीण परिमल, दिलशाद नजमी के साथ साथ अजीत चितवन आदि कवियों ने अपनी रचनाओं की प्रस्स्तुति दी. कार्यक्रम में सिमडेगा के जिला उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- चाची और भाभी ने किशोरी पर किया धारदार हथियार से हमला, मां लहूलुहान अवस्था में लेकर पहुंची थाना

Related Articles

Back to top button