JharkhandLead NewsRanchi

सिमडेगा, चतरा और खूंटी भी रेलवे नेटवर्क से जुड़ेगा, राज्य में रेल परियोजनाओं में केंद्र और राज्य सरकार की 50-50% होगी हिस्सेदारी

Ranchi : राज्य में भविष्य में रेल परियोजनाओं के निर्माण और उन पर होनेवाले खर्च पर राज्य और केंद्र सरकार मिल कर काम करेंगी. दोनों सरकारें इस पर 50-50 प्रतिशत शेयरिंग करेंगी. इसके अलावे राज्य के सिमडेगा, चतरा और खूंटी जैसे जिलों को भी रेलवे नेटवर्क से जोड़ा जायेगा.

सीएम हेमंत सोरेन ने विकास आय़ुक्त की अध्यक्षता में गठित समिति और उसके द्वारा समर्पित प्रतिवेदन को अपनी स्वीकृति दे दी है. समिति ने राज्य के सभी जिला मुख्यालयों को रेलवे कनेक्टिवटी से जोड़ने के अलावे राज्य के अंदर की रेल परियोजनाओं की पहचान, योजना और उसके विकास में जेआरआईडीसीएल के द्वारा एंकर रोल निभाने के संदर्भ में भी विस्तृत सुझाव दिये हैं.

इसे भी पढ़ें- सरकार ने लक्ष्मी विलास बैंक के डीबीएस बैंक में विलय को मंजूरी दी, निकासी की सीमा भी हटायी

50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी

राज्य में आनेवाले समय में कई रेल परियोजनाओं का निर्माण होगा. इस संबंध में विस्तृत अध्ययन के लिए विकास आय़ुक्त की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गयी थी. कमिटी ने अपना प्रतिवेदन सीएम को सौंप दिया है. इसमें कहा गया है कि जिन रेल परियोजनाओं से राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में लाभ मिलेगा, उसके निर्माण में होनेवाले खर्च में केंद्र और राज्य सरकार की 50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी. सिमडेगा, चतरा और खूंटी समेत ऐसे सभी जिला मुख्यालयों को रेलवे कनेक्टिवटी से जोड़ा जाये.

वैसी रेल परियोजनाएं जो फाइनांसियली लाभदायक नहीं हैं पर राज्य में क्रिटिकल कनेक्टिवटी, कैपासिटी इनहांसमेंट और सामाजिक आर्थिक विकास के लिहाज से जरूरी हैं, उन्हें ज्वाइंट वेंचर के डेब्ट इक्विटी कॉन्सेप्ट पर लिया जायेगा. ऐसी रेल परियोजनाओं के खर्च के लिए पैसों का इंतजाम प्राइवेट या गवर्नेंट स्टेकहोल्डर्स और लोन के जरिए किया जायेगा.

मैट्रिक और इंटर परीक्षा के स्टेट टॉपरों को सीएम करेंगे सम्मानित

झारखंड इंटरमीडिएट काउंसिल, सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के मैट्रिक और इंटरमीटिएट परीक्षा-2020 में राज्यस्तर पर टॉप करने वालों को सम्मानित किया जायेगा. इसके लिये एक समारोह का आयोजन होगा. इसमें सीएम हेमंत सोरेन 59 विद्यार्थियों को प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित करेंगे.

मैट्रिक में पहला स्थान पाने वाले टॉपर को एक लाख, दूसरा स्थान हासिल करनेवाले को 75 हजार और तीसरा स्थान पानेवाले विद्यार्थी को 50 हजार रुपये दिये जायेंगे. इंटरमीडिएट के टॉपर को तीन लाख रुपये प्रोत्साहन राशि दी जायेगी. दूसरे और तीसरे स्थान वालों के लिए क्रमशः दो लाख और एक लाख रुपये बतौर प्रोत्साहन राशि तय किया गया है.

इसे भी पढ़ें- राज्य के तीन जेलरों को मिली प्रोन्नति, जल्द करेंगे पदभार ग्रहण

119 विद्यालयों को सीएम स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार

टॉपरों को सम्मानित करने के लिए आयोजित समारोह में 119 स्कूलों को भी मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार दिया जायेगा. मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना के लिए ऑनलाइन प्रतियोगिता आयोजित की गयी थी. इसमें राज्यभर के शहरी और ग्रामीण इलाकों के 44,441 स्कूलों ने भाग लिया था. स्वच्छता के पांच मानकों के आधार पर इनका आकलन कर ग्रेडिंग की गयी. इन मानकों में पेयजल व्यवस्था, शौचालय, हैंडवॉश (साबुन के साथ), ऑपरेशन एंड मेंटनेंस और बिहेवियरल चेंज एंड कैपासिटी बिल्डिंग शामिल हैं.

इन मानकों के आधार पर विद्यालयों को भी पांच श्रेणियों में विभक्त कर स्टार ग्रेडिंग की गयी. इसमें 90 से 100 प्रतिशत प्राप्तांक प्राप्त करने वाले विद्यालयों को पांच स्टार, 75 से 89 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले विद्यालयों को चार स्टार, 51 से 74 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले विद्यालयों को तीन स्टार, 35 से 50 प्रतिशत तक अंक वाले विद्यालयों को दो स्टार और 35 प्रतिशत से कम प्राप्तांक प्राप्त करने वाले विद्यालयों को एक स्टार प्रदान किया गया.

इसे भी पढ़ें-  चार साल की बेटी के साथ लापता हो गयी महिला, परेशान पति ने पुलिस से मदद की लगायी गुहार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: