JharkhandRanchi

चार दिनों से बंद है सिकिदिरी पावर प्लांट, दरार के कारण बीम में भरा पानी

Ranchi: पिछले चार दिनों से सिकिदिरी पावर प्लांट में बिजली उत्पादन बंद है. पावर प्लांट के बीम में दरार आने के कारण पानी भर गया है. जिसक वजह से बिजली उत्पादन बंद है.

राज्य में फिलहाल केंद्रीय पोल के जरिये बिजली वितरण किया जा रहा है. जिसमें डीवीसी समेत अन्य राज्यों से बिजली आपूर्ति की जा रही है. राज्य में सिकिदिरी पावर प्लांट ही एक बिजली उत्पादन का जरिया है. इसके बंद हो जाने के बाद राज्य में बिजली उत्पादन का कोई अन्य स्रोत नहीं है.

दिपावली के कुछ दिन पहले भी सिकिदरी पावर प्लांट बंद रहा. पानी की कमी के कारण बिजली उत्पादन ठप रहा. फिर कुछ दिनों के लिए राज्य में बिजली उत्पादन शुरू तो हुई लेकिन बीम में दरार के कारण पानी भर गयी.

Catalyst IAS
SIP abacus

सिकिदिरी पावर प्लांट बंद होने पर उषा मार्टिन समेत कुछ अन्य बिजली उत्पादकों से बिजली आपूर्ति की जा रही है. लेकिन राज्य की जरूरत के अनुसार इन निजी कंपनियों की उत्पादन क्षमता नहीं है.

MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें- #PoliticalGossip: संथाल में बड़का पार्टी के कार्यकर्ताओं के चखना में खली सुखल चना नहीं बल्कि मुर्गो रहेगा

1000 मेगावाट की जरूरत, सिकिदरी से 65 से 130 मेगावाट होता है उत्पादन

राज्य में कुल बिजली की खपत 1000 मेगावाट है. केंद्रीय पोल से वर्तमान में लगभग सात सौ मेगावाट की ही आपूर्ति हो पा रही है. बाकी आपूर्ति राज्य के सिकिदिरी पावर प्लांट से होती थी. लेकिन फिलहाल ये बंद है.

सिकिदिरी पावर प्लांट से लगभग 65 से 130 मेगावाट बिजली उत्पादन की जाती है. झारखंड विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की ओर से बताया गया कि सिकिदिरी पावर प्लांट के बंद होने से राज्य का बिजली उत्पादन बंद हो गया है. क्योंकि राज्य में एक मात्र सिकिदिरी से ही बिजली उत्पादन किया जाता है.

पतरातू में पावर प्लांट तो बनायें जा रहे हैं लेकिन साल 2022 में उत्पादन शुरू होगी. वो भी एक मेगावाट के साथ. ऐसे में तब तक केंद्रीय पोल और सिकिदिरी से ही राज्य में बिजली आपूर्ति की जा सकती है.

इसे भी पढ़ें- #Bihar: नवरूणा हत्याकांड में #CBI ने खड़े किये हाथ, जानकारी देने वाले को 10 लाख का इनाम देने की घोषणा

इमरजेंसी अप्रूवल दी गयी, जल्द शुरू किया जायेगा काम 

झारखंड विद्युत वितरण निगत लिमिटेड के अंतर्गत सिकिदिरी पावर प्लांट है. ऐसे में पावर प्लांट के मरम्मत के लिये इमरजेंसी अप्रूवल दे दी गयी है. आने वाले एक दो दिन में काम शुरू किया जायेगा.

जेबीवीएनएल से जानकारी मिली की पावर प्लांट के बीम में दरार आना और पानी भरा आकस्मिक कारक है. ऐसे में इमरजेंसी अप्रूवल दी गयी है. कुछ अधिकारियों ने बताया कि दीपावली के पहले हुई बारिश के कारण ये स्थिति हुई.

Related Articles

Back to top button