न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिद्धू को ज्‍यादा बोलना पड़ा महंगा, डॉक्‍टर ने कहा- नहीं चेते तो हमेशा के लिए जाएगी आवाज

eidbanner
32

Chandigarh: अपनी दमदार आवाज और वाकपटुता के लिए टीवी से लेकर राजनीति के मंच तक पसंद किए जाने वाले नवजोत सिंह सिद्धू की आवाज खतरे में है. डॉक्टर ने उन्हें चेतावनी देते हुए तत्काल आराम करने की सलाह दी है. सिद्धू पिछले 17 दिनों में 70 से ज्यादा चुनावी साभाएं कर चुके हैं.

वोकल कार्ड को पहुंचा नुकसान

पंजाब सरकार ने गुरुवार को बताया कि राज्य के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के 17 दिन के तूफानी चुनाव प्रचार के बाद उनकी आवाज खतरे के कगार पर है और उन्हें डॉक्टरों ने तीन से पांच दिन तक पूरी तरह आराम करने की सलाह दी है. राज्य सरकार के अनुसार, पंजाब के स्थानीय प्रशासन, पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री सिद्धू के वोकल कॉर्ड को नुकसान पहुंचा है. वह पूरी तरह जांच कराने और स्वास्थ्य लाभ के लिए अज्ञात ठिकाने पर चले गये हैं.

सिद्धू ने कांग्रेस के स्टार प्रचारक के रूप में राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और तेलंगाना के चुनावों से पहले 17 दिन में 70 से अधिक जनसभाओं को संबोधित किया. अपनी अद्भुत वाकक्षमता के लिए लोकप्रिय सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के निजी निमंत्रण पर 28 नवंबर को पड़ोसी देश के दौरे पर गये थे.

चेतावनी के बाद अंडरग्राउंड हुए सिद्धू

जानकारी के अनुसार नवजोत सिंह सिद्धू ने 17 दिन तक आक्रामक चुनाव प्रचार किया, जिसमें उन्होंने एक के बाद एक 70 से अधिक जनसभाओं को संबोधित किया और व्यस्त दिनचर्या की वजह से उनका वोकल कॉर्ड प्रभावित हुआ है. डॉक्टरों ने उनसे कहा है कि वह आवाज खोने के कगार पर है, इसलिए उन्हें तीन से पांच दिन का पूरी तरह आराम करने की सलाह दी गयी है.”

बताया गया है कि कुछ साल पहले बहुत ज्यादा विमान यात्राओं की वजह से सिद्धू डीवीटी (डीप वीन थ्रोम्बोसिस) का शिकार हुए थे और उनका इलाज किया गया था. इस वजह से लगातार हेलीकॉप्टर और विमान यात्राएं उनकी सेहत के लिए नुकसानदेह रही हैं. इसके अनुसार, सिद्धू की कई रक्त जांच की गयी हैं और वह पूरी तरह जांच तथा स्वास्थ्य लाभ के लिए अज्ञात स्थान पर चले गये हैं. उन्हें प्राणायाम और फिजियोथैरेपी के साथ विशेष ध्यान कराया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: बीजेपी को बड़ा झटकाः यूपी में दलित सांसद सावित्री बाई फूले ने छोड़ी पार्टी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: