न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिद्धू ने ली चुटकी, कहा- सभी को चौकीदार बनाना चाहती है मोदी सरकार

68

Kishanganj (Bihar) : क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू ने नरेंद्र मोदी सरकार के ‘मैं भी चौकीदार अभियान’ पर बिहार के किशनगंज में तीखा हमला बोला. सिद्धू ने कहा कि सरकार देश में प्रत्येक व्यक्ति को एक चौकीदार बनाने में व्यस्त है जबकि विकसित देश नये क्षितिज खोजने में लगे हैं. गौरतलब है कि राहुल गांधी द्वारा मोदी पर ‘‘चौकीदार चोर है’’ नारे से हमला किए जाने के बाद ‘‘मैं भी चौकीदार अभियान’’ सामने आया है.

इसे भी पढ़ें- कांग्रेस के तंज पर केंद्रीय मंत्री का पलटवारः ‘चाहे जितना अपमानित किया जाए, अमेठी के लिये काम करती…

ये चौकीदार बड़े उद्योगपतियों के महलों की सुरक्षा करते हैं

सिद्धू ने यहां एक चुनावी रैली में कहा कि चीन पानी के नीचे रेललाइन बिछा रहा है, अमेरिका अंतरिक्ष में जीवन को बरकरार रखने की संभावना का पता लगा रहा है, रूस अविश्वसनीय रोबोट लेकर आ रहा है. और यहां ये लोग सभी को चौकीदार बनाने पर अड़े हुए हैं.

भाजपा के पूर्व नेता सिद्धू कुछ वर्ष पहले कांग्रेस में शामिल हो गए थे. सिद्धू वर्तमान में पंजाब सरकार में मंत्री हैं. उन्होंने कहा कि ये चौकीदार बड़े उद्योगपतियों के महलों की सुरक्षा करते हैं. उन्हें आम लोगों की झोपड़ियों की कोई चिंता नहीं है.

Related Posts

मुंगेर में हाइ प्रोफाइल डबल मर्डरः #RJDMLA की भतीजी का बॉयफ्रेंड के साथ मिला शव

पहली नजर में पुलिस मान रही आत्महत्या, प्यार में असफल होने पर जाने देने की आशंका

इसे भी पढ़ें- मोदी कर्नाटक में बेाले, कांग्रेस-जेडीएस दोनों का मिशन, कमीशन है

सबका साथ सबका विकास खोखला

उन्होंने कहा कि नारा ‘सबका साथ सबका विकास’ खोखला है. इस सरकार में अडानी और अंबानी जैसे लोगों को ही विकास का अनुभव हुआ. सुप्रीम कोर्ट में केंद्र द्वारा यह कहे जाने का उल्लेख करते हुए कि राफेल सौदे के कुछ कागजात रक्षा मंत्रालय के कार्यालय से गुम हुए, सिद्धू ने कहा कि वे संवेदनशील कागजात को नहीं संभाल सकते. वे देश चलाने की क्षमता के बारे में क्या बोल सकते हैं?

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: