Jamshedpur

एसआई रवि रंजन होगा बर्खास्त, ढाई माह बाद भी गिरफ्तारी  नहीं

बहरागोड़ा की महिला ने बिरसानगर के एसआई पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का लगाया था आरोप

Jamshedpur : शादीशुदा महिला से शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के आरोप में फंसे बिरसानगर थाना के एसआई रवि रंजन कुमार को शहर की पुलिस पूरे ढाई माह के बाद भी गिरफ्तार नहीं कर पाई है. इसके बारे में सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट ने बताया कि आरोपी एसआई को गिरफ्तार करने के बाद कनविक्शन कराया जाएगा और उसके बाद उसे नौकरी से बर्खास्त किया जाएगा.

8 जुलाई को दर्ज हुआ था मामला

बहरागोड़ा की रहने वाली एक शादीशुदा महिला ने एसएसपी और महिला थाना को लिखित ज्ञापन सौंपते हुए शिकायत की थी कि बिरसानगर थाना में पदस्थापित एसआई रवि रंजन कुमार ने उसके साथ फेसबुक के माध्यम से दोस्ती की. उसके बाद 17 मई को उसके बहरागोड़ा स्थित मायके वाले घर में देर रात जबरन घुसकर दुष्कर्म किया. पुलिस से शिकायत करने की धमकी देने पर आरोपी एसआई ने शादी करने और बीएड कराने का प्रलोभन देकर महिला यौन शोषण किया. यहां तक कि बिरसानगर थाना में पदस्थापना होने के बाद उसके साथ थाना के क्वार्टर में भी दुष्कर्म किया. शादी करने का दबाव बनाने पर आरोपी ने बदसलूकी की और 29 जून को छुट्टी लेकर गांव चला गया, जहां 2 जुलाई को उसने दूसरी युवती से शादी कर ली. 8 जुलाई को महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.

advt

कई आइओ बदले गए

एसएसपी के निर्देश पर महिला थाना प्रभारी जेनी तिग्गा को आईओ बनाया गया था. पीड़िता की लिखित आपत्ति पर साकची थाना की एसआई अनीता सोरेन को नया आईओ नियुक्त किया गया. अभी आईओ अनीता सोरेन पिछले कई दिनों से ट्रेनिंग पर शहर से बाहर हैं और उन्होंने केस को महिला थाना के एसआई हर्ष कुमार को केस सौंपा है. अबतक पुलिस आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. लगता है पुलिस खुद आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है.

इसे भी पढ़ें- डीएसपी ने 2 माह पहले वरीय अधिकारी को भेजी थी जांच रिपोर्ट, अबतक कार्रवाई नहीं

आरोपी का पूरा परिवार है फरार

जानकारी मिली है कि गत दिनों आईओ अनीता सोरेन की टीम ने आरोपी एसआई के बिहार के समस्तीपुर स्थित पैतृक घर पर छापेमारी की थी. घर पर आरोपी की दादी के अलावा कोई परिजन नहीं मिला. आस-पास के रहने वालों ने बताया कि उन्हें घटना के संदर्भ में कोई जानकारी ही नहीं है. पड़ोसियों ने बताया कि आरोपी शादी करने के लिए दो दिन के लिए गांव गया था. इसके बाद पूरे परिवार के साथ गांव से निकल गया. इसके बाद से आरोपी व उसके परिवार वालों से पड़ोसियों का कोई संपर्क नहीं है.

कोट

आरोपी एसआई की गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है. गिरफ्तारी के बाद उसका कोर्ट में कनविक्शन कराया जाएगा और उसके बाद उसे नौकरी से बर्खास्त किया जाएगा.

-सुभाष चंद्र जाट, सिटी एसपी.

 

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: