Jamshedpur

एसआई ने हाई कोर्ट में दी जमानत याचिका, दुष्कर्म के आरोप में 80 दिनों से है फरार

बहरागोड़ा की युवती ने बिरसानगर थाना के एसआई रवि रंजन पर लगाया था दुष्कर्म का आरोप

Jamshedpur : दुष्कर्म के आरोप में पिछले करीब तीन माह से फरार चल रहे बिरसानगर थाना के एसआई रवि रंजन का पुलिस अबतक पता नहीं लगा सकी है, और इधर आरोपी एसआई ने अपने बचाव के लिए हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर कर दी है. विदित हो कि बहरागोड़ा की रहने वाली एक शादीशुदा युवती ने बिरसानगर के एसआई रवि रंजन के खिलाफ शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए गत 8 जुलाई को साकची महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी. जांच में दुष्कर्म का आरोप सही पाया गया था. पर 17 मई को पीड़िता से दुष्कर्म करने वाला आरोपी एसआई गत 29 जून से ही छुट्टी लेकर फरार है और पुलिस अबतक उसका पता नहीं लगा सका है.

23 अगस्त को जमशेदपुर कोर्ट ने भी खारिज कर दी थी अग्रिम जमानत याचिका

आरोपी एसआई रवि रंजन ने पूर्व में जमशेदपुर कोर्ट में भी अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, जिसे जमशेदपुर कोर्ट ने 23 अगस्त को खारिज कर दिया था. ऐसे में हाई कोर्ट से भी जमानत याचिका खारिज हो सकती है.

advt

80 दिन में अबतक सिर्फ दो जगह छापेमारी

इस मामले में पुलिस की सुस्त चाल को देखकर लगता है कि पुलिस विभाग की नाक बचाने के लिए आरोपी एसआई को बचाने में लगी हुई है. दरअसल प्राथमिकी दर्ज होने के 80 दिनों में आरोपी एसआई की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने अब सिर्फ दो जगहों पर ही छापेमारी की है. वो भी दोनों बार आरोपी के पैतृक निवासी बिहार के समस्तीपुर में. इधर मामले को लेकर एक बार आईओ बदला जा चुका है, जबकि दूसरे आईओ के प्रशिक्षण पर जाने के कारण अब मामला तीसरे आईओ को हैंडओवर कर दिया गया है. ले-दे कर  मामले को जैसे लटकाने का प्रयास किया जा रहा है.

लगभग 40 दिन पूर्व जारी हो चुका है वारंट, जल्द होगी गिरफ्तारी: एसएसपी

एसएसपी एम तमिल वाणन का कहना है कि आरोपी एसआई की गिरफ्तारी के लिए वारंट मिल चुका है. दो बार छापेमारी भी की जा चुकी है. उसके सभी संपर्क नंबर को सर्विलांस पर रखा गया है. पुलिस अपनी ओर से पूरा प्रयास कर रही है. जल्द ही आरोपी एसआई की गिरफ्तारी होगी. कोर्ट में कनविक्षन के बाद उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी.

इसे  भी पढ़ें-महिला एयर फोर्स  अफसर से ट्रेनिंग के दौरान रेप के आरोप में फ्लाइट लेफ्टिनेंट गिरफ्तार

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: