न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

श्यामल चक्रवती को भी शहीद का दर्जा मिलना चाहिए ः मासस

शहीदों के सम्मान समारोह में भी खेल गये अरुप चटर्जी राजनीतिक दांव

2,060

Dhanbad: वर्तमान सरकार के खिलाफ देश के युवाओं को मुखर होकर आंदोलन करना होगा. भाजपा सत्ता में आने के लिए हमेशा से लोक लुभावने बातें करके जनता को दिग्भ्रमित करती आयी है. उक्त बातें मासस के निरसा विधायक अरुप चटर्जी ने आज श्यामल चक्रवर्ती की पुण्यतिथि पर आईएसएम, धनबाद के मुख्य गेट के पास आयोजित कार्यक्रम में कही. उन्होंने कहा कि सांप्रदायिकता, जाति के नाम पर भाजपा सरकार जनता को बरगलाती आयी है. विकास के नाम पर केवल ढकोसला हो रहा है. साढ़े चार सालों में केवल पूंजीपतियों को बढ़ावा दिया है.

श्यामल चक्रवर्ती को शहीद का दर्जा मिलना चाहिए

अरुप चटर्जी ने कहा कि एक अधिकारी को शहीद का सम्मान मिला और लोग उनकी शहादत को हर साल मनाते हैं. धनबाद की जनता श्यामल चक्रवती को भी नहीं भूली है. इनको भी शहीद का दर्जा मिलना चाहिए. हालांकि उन्हें अब तक शहीद का दर्जा नहीं मिला है. लेकिन श्यामल को धनबाद की जनता हमेशा याद करती रहेगी. रणधीर वर्मा की शहादत दिवस की ही तरह श्यामल चक्रवर्ती का शहादत दिवस हर साल मनाया जाए.

रणधीर वर्मा के साथ श्यामल चक्रवर्ती की भी गयी थी जान

बताते चलें कि 3 जनवरी 1992 को हिरापुर शाखा के बैंक को एक 47 से लैस होकर लूटने आये खालिस्तानी आतंकवादियों से लोहा लेते हुए तत्कालिक एसपी रणधीर वर्मा गोलियों से घायल होकर शहीद हो गये थे. उसी समय असीम साहस का परिचय देते हुए श्यामल चक्रवर्ती भी उन आतंकवादियों से भिड़ गये थे और बैंक को लुटने से बचाया था. तब श्यामल चक्रवर्ती भी गोली लगने शहीद हो गये थे. इसके बाद से हर साल कोयलांचल में दोनो ही शहीदों की पुण्यतिथि पर कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं. उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया जाता है.

पूरे नहीं हुए भाजपा के वादे

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए सीपीएम के राज्य सचिव गोपीकान्त बख्सी ने कहा कि भाजपा ने जो वादे किये उस पर आज तक पार्टी खरा नहीं उतरी. रोजगार देने, गरीबों के खातें में 15 लाख देने जैसे कई वादे केवल सुनने में ही आये. इस सरकार को उखाड़ फेकने के लिए चट्टानी एकता की जरुरत आन पड़ी है. कार्यक्रम में मासस के केंद्रीय महामंत्री हलधर महतो, जिलाध्यक्ष हरिप्रसाद पप्पू, मिथिलेश सिंह, पवन महतो, रामकृष्ण सिंह आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः फिर छले जायेंगे हुसैनाबाद के लोग, सोन-कोयल जलापूर्ति योजना से छतरपुर क्षेत्र को मिलेगा पानी : झाविमो

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: