JamshedpurJharkhand

खराब परफॉरमेंस पर भड़के DC, मुसाबनी और पटमदा के चिकित्सा पदाधिकारी को शोकॉज

Jamshedpur : उपायुक्त सूरज कुमार ने मंगलवार को अपने कार्यालय में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कर मासिक प्रगति की समीक्षा की. समीक्षा में मुसाबनी और पोटका का प्रदर्शन बेहद खराब पाया गया. डीसी ने इसके लिए दोनों चिकित्सा प्रभारियों को जमकर फटकार लगाते हुए शोकॉज किया है.
दुर्गा पूजा से पूर्व अधिक से अधिक लोगों का करें टीकाकरण
बैठक के दौरान उपायुक्त ने दुर्गा पूजा से पूर्व अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करने का निर्देश दिया. उपायुक्त ने कहा कि पश्चिम बंगाल से सटे सीमावर्ती प्रखंड व शहरी क्षेत्र में दुर्गा पूजा के दौरान कोरोना संक्रमण रोकथाम को लेकर विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है, इसलिए जरूरी है कि बहरागोड़ा, मुसाबनी, चाकुलिया, घाटशिला व शहरी इलाकों के ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण सुनिश्चित किया जाये. वहीं कोविड वैक्सीन का फर्स्ट डोज लगाने में पिछड़ने वाले प्रखंडों में धालभूमगढ़, डुमरिया, मुसाबनी, पोटका, पटमदा, बहरागोड़ा व घाटशिला को वैक्सीनेशन कार्यक्रम में तेजी लाने का निर्देश दिया. वहीं सेकेंड डोज में शहरी क्षेत्र के साथ-साथ घाटशिला व गोलमुरी सह जुगसलाई को तेजी लाने को कहा. त्यौहार को देखते हुए कोविड सैंपल कलेक्शन बढ़ाने, रेलवे स्टेशन, चेक नाका में नियमित कोविड जांच करने और सार्वजनिक जगहों पर कैंप लगाकर जांच करने का निर्देश दिया.
निजी अस्पतालों व नर्सिंग होम से प्रसव का डाटा लें
बैठक के दौरान उपायुक्त ने संस्थागत प्रसव के मामले में खराब प्रदर्शन को लेकर प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारियों को जमकर फटकार लगायी और आंकड़ा बढ़ाने को कहा. साथ ही निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में डिलीवरी कराने वालों का प्रतिदिन का आंकड़ा लेने का आदेश दिया.
बच्चों के टीकाकरण को 15 से 30 अक्तूबर तक विशेष अभियान
बैठक के दौरान बच्चों के टीकाकरण को लेकर सभी लेफ्ट आउट व ड्रॉप आउट बच्चों के लिए 15 से 30 अक्टूबर तक विशेष अभियान चलाकर शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया. विदित हो कि बच्चों के टीकाकरण में राज्य के 84 प्रतिशत के मुकाबले जिला की उपलब्धि 93 प्रतिशत है.
एमटीसी सेंटर में बढ़ायें बेड
उपायुक्त ने कुपोषण को लेकर बहरागोड़ा, पोटका, मुसाबनी व घाटशिला के मॉल न्यूट्रिशन सेंटर्स ‘एमटीसी‘ में बेड बढ़ाने का निर्देश दिया. साथ ही कुपोषण ग्रस्त बच्चों को चिन्हित करने एवं बच्चों के साथ उनकी मां को भी पोषणयुक्त आहार एमटीसी में उपलब्ध कराने को कहा. वहीं एमटीसी से डिस्चार्ज होने पर बीपीएल परिवारों की आर्थिक परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए एक डायट प्लान बनाकर परिजनों से साझा करने को कहा.
52 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स को जल्द करें एक्टिव
बैठक में उपायुक्त ने बताया कि जिले में कुल प्रस्तावित 175 हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर के मुकाबले अब तक 123 कार्यरत कर दिए गए हैं. शेष बचे 52 सेंटर्स को भी जल्द एक्टिव करने का निर्देश दिया. इसके अलावा डेंगू एवं जापानी इंसेफ्लाइटिस से बचाव के लिए एंटी लार्वा छिड़काव व फॉगिंग कराने को कहा. आयुष्मान भारत के क्रियान्वयन में सुधार का निर्देश दिया.
ये थे बैठक में मौजूद:
सिविल सर्जन डॉ एके लाल, एसीएमओ डॉ साहिर पाल, डीआरसीएचओ डॉ जुझार मांझी, डॉ असद, डॉ मीना कालुंडिया, एफएलए अनु कुमारी, डीपीएम, डीपीसी आदि.

 

इसे भी पढ़ें: कोरोना से 59 दिनों बाद शहर में डॉक्टर की मौत, 10 दिनों से थे बीमार

Related Articles

Back to top button