न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शोपियांः आंतकी बेटे के घिरे होने की खबर से पिता को आया हार्ट अटैक- मौत, मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर

एक घर में 5-6 आंतकियों के छिपे होने की आशंका

545

Shrinagar: जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में मंगलवार अहले सुबह आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ शुरु हुई. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में सूचना मिलने पर सुरक्षा बलों ने एक गांव में घेराबंदी और तलाशी अभियान चलाया. सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाईं जिस पर सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गयी. वही इस एनकाउंटर में दो आतंकी ढेर हो गए हैं जबकि सुरक्षाबलों के दो जवान घायल हुए हैं. वही आतंकी बेटे के सुरक्षा बलों से घिरे होने की खबर पर एक पिता को हार्ट अटैक आ गया, जिससे उनकी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ेंः खुलने से पहले ही ‘जियो इंस्टीट्यूट’ को मिला ‘उत्कृष्ट संस्थान’ का दर्जा, फैसले पर उठे सवाल

स्थानीय पुलिस अधिकारी का कहना है कि दो आतंकी मारे गए हैं. लेकिन आतंकियों के शव मिलने पर ही उनकी मौत की आधिकारिक पुष्टि की जा सकेगी. सुरक्षा बलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां के कुमदलान में 5-6 आतंकियों के छिपे होने का भी शक है. ये आतंकी शोपियां के एक घर में शरण लिए हुए हैं. सुरक्षा बलों ने आतंकियों को घेर लिया है. ऑपरेशन में सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और पुलिस बल के जवान लगे हैं. संयुक्त सुरक्षा बलों की घेराबंदी और फायरिंग के बाद आतंकियों की ओर से भी फायरिंग की गई. जिसमें दो जवान घायल हो गए.

आतंकी बेटे के फंसे होने की खबर पर पिता की मौत

शोपियां मुठभेड़ में 5-6 आंतकियों के घिरे होने की खबर है. इसमें एक स्थानीय आतंकी जीनत नाइकू भी शामिल है. अपने बेटे के सुरक्षाबलों से घिरे होने की खबर मिलते ही जीनत के पिता मोहम्मद इशाक नाइकू को हार्ट अटैक आ गया और उनकी मौत हो गई. जीनत नाइकू शोपियां के मेमंदर गांव का निवासी है, और दो महीने पहले ही आंतकियों से जुड़ा था.

इधर मुठभेड़ वाले इलाके में सुरक्षा बलों ने आसपास के घरों से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है. एनकाउंटर के विरोध में हो रही स्थानीय लोगों की पत्थरबाजी पर भी नियंत्रण पा लिया गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: