ChaibasaCourt NewsCrime NewsJharkhandNEWS

कोल्हान में भाजपा के दो पूर्व विधायकों को झटका – रेल चक्का जाम में गुरुचरण को कैद, जाली नोट चलाने में पुत्कर की दूसरी पत्नी को सजा

Chaibasa : पश्चिमी सिंहभूम के दो पूर्व भाजपा विधायकों के लिए बुधवार का दिन अच्छा नहीं रहा. मनोहरपुर के पूर्व भाजपा विधायक गुरुचरण नायक को  रेल चक्का जाम करने के दस साल पुराने एक मामले में एक साल कैद की सजा सुनायी गयी. वहीं नकली नोट चलाने के एक मामले में द्वितीय अपर जिला सत्र न्यायाधीश सूर्य भूषण ओझा की अदालत ने चाईबासा के पूर्व विधायक पुत्कर हेंब्रम की दूसरी पत्नी मलाया हेंब्रम को चार साल कैद की सजा सुनायी.

17 अक्टूबर 2012 को हुआ था रेल चक्का जाम
रेल चक्का जाम करने के मामले में मनोहरपुर के पूर्व विधायक गुरुचरण नायक सहित चार लोगों को एक साल कैद की सजा सुनायी है.
चाईबासा एमपी-एमएलए विशेष अदालत के जज ऋषि कुमार की अदालत ने यह सजा सुनायी. बता दें कि चक्रधरपुर रेल मंडल के घाघरा हाल्ट पर 17 अक्टूबर 2012 को पूर्व विधायक गुरुचरण नायक, दशरथ पुरती, अमित अंगरिया और इंद्रजीत सामड के नेतृत्व में हजारों की संख्या में ग्रामीणों ने रेल चक्का जाम किया था. इस मामले में एमपी एमएलए की विशेष कोर्ट ने चारों आरोपियों को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई.

दिल्ली से जाली नोट लाकर चाईबासा में चलाती थी

Sanjeevani

नकली नोट चलाने के मामले में चईबासा के द्वितीय अपर जिला सत्र न्यायाधीश सूर्य भूषण ओझा की अदालत ने बुधवार को पूर्व विधायक पुतकर हेंब्रम की दूसरी पत्नी मलाया हेंब्रम को चार साल की सजा सुनाई और 5 हजार रुपए जुर्माना लगाया है. इसके खिलाफ मुफस्सिल थाना के मतकमहातु गांव निवासी जयंती देवगम के बयान पर 11 सितंबर 2020 को दर्ज किया गया था. दर्ज मामले में बताया गया था कि 10 सितंबर 2020 को जयंती देवगम का कपड़ा दुकान आती थी, मलाया ने कुल 1600 रुपये का सामान खरीदा और दो हजार रुपये का एक नोट दिया. इस पर दुकानदार ने उसे चार सौ रुपये लौटा दिये. जब जयंती देवगम पैसा जमा करने के लिए स्टेट बैंक के एटीएम गयी, तो मशीन ने नोट को एक्सेप्ट नहीं किया. जयंती ने गांव जाकर एक-दो लोगों को नोट दिखाया, तो सबने उस नोट को नकली बताया. दूसरे दिन जयंती ने मलाया हेंब्रम को दुकान के पास देखा और नकली नोट देने की बात कही. इसपर मलाया ने उसे 1540 रुपये दिये. बाकी के 60 रुपये मांगने पर उसने बैग से चाकू निकालकर जयंती पर वार कर दिया. बीच-बचाव करने आयी जयंती की भाभी को भी हमला कर जख्मी कर दिया. तभी पुलिस की गश्ती जीप आ गयी और मलाया को पकड़ कर ले गयी.  थाना में पूछताछ के दौरान मलाया ने बताया कि वह दिल्ली से नकली नोट लाती है और चाईबासा बाजार में चलाने का काम करती है. दो हजार का जाली नोट दिल्ली में मात्र पांच सौ में मिल जाता है. वह हमेशा हवाई जहाज से दिल्ली जाना-आना करती थी. इसके बाद पुलिस उसे नकली नोट मामले में उसे जेल भेजा था.

इसे भी पढ़ें – पलामू: रामचंद्र चंद्रवंशी के विधायक प्रतिनिधि इदरीस हवारी के निजी अंगरक्षक की गोली लगने से मौत

Related Articles

Back to top button