Corona_UpdatesLead NewsNational

कोवैक्सीन को झटका, इमर्जेंसी इस्तेमाल की अर्जी को अमेरिका ने की खारिज

ऑक्यूजेन ने एफडीए से आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मांगी थी

New Delhi : स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक को अमेरिका में इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना होगा. अमेरिका ने अभी कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल पर मंजूरी ना देने का फैसला किया है. अमेरिकी फूड और एडमिनिस्ट्रेशन यानी एफडीए ने भारत बायोटेक की कोवैक्सीन टीके के आपातकालीन इस्तेमाल के आवेदन को खारिज कर दिया है.

अब इससे कंपनी को अमेरिका में अपनी वैक्सीन को लॉन्च करने के लिए और थोड़ा इंतजार करना होगा. बता दें कि कुछ दिनों पहले कोवैक्सीन के लिए अमेरिकी साझेदार ऑक्यूजेन ने अमेरिकी दवा नियामक एफडीए के पास मास्टर फाइल भेजकर इस टीके के आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति मांगी थी.

advt

इसे भी पढ़ें :20 डॉलर का सोने का सिक्का नीलाम हुआ 138 करोड़ रुपये में, जानिये क्या खासियतें हैं

अमेरिका ने एक और परीक्षण की मांग की

ऑक्यूजेन ने कहा कि कंपनी अमेरिका से कोवैक्सीन की पूरी मंजूरी मांगेगी. बता दें कि अमेरिका कंपनी को एक और अतिरिक्त परीक्षण शुरू करने के लिए कह रहा है, ताकि कंपनी एक बायोलॉजिकल लाइसेंस आवेदन (बीएलए) के लिए फाइल कर सके, जो कि एक पूर्ण मंजूरी है.

इसे भी पढ़ें :हजारीबाग : एक रात में दो घरों में चोरी, नगदी समेत ज्वेलरी लेकर फरार हुए चोर

 

कोवैक्सीन को अमेरिका में मंजूरी मिलने में होगी देरी

वहीं एफडीए ने सिफारिश की थी कि ऑक्यूजेन अपनी वैक्सीन के लिए इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन आवेदन की बजाय बीएलए पर ध्यान दे. इधर ऑक्यूजेन के मुख्य कार्यकारी शंकर मुसुनीरी ने कहा कि इससे भले ही वैक्सीन लाने में देरी होगी लेकिन हम कोवैक्सीन को अमेरिका लाने में प्रतिबद्ध हैं.

अध्ययन के नतीजों को मास्टर फाइल के रूप में भेजा

ऑक्यूजेन ने एफडीए के पास समीक्षा के लिए प्रीक्लिनिकल अध्ययन, रसायन, विनिर्माण और नियंत्रण और क्लिनिकल अध्ययन के नतीजों को मास्टर फाइल के रूप में भेजा था. बता दें कि भारत बायोटेक ने अभी तक तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल का डाटा साझा नहीं किया है, जिसकी देश में खूब आलोचना हो रही है. कंपनी ने ट्विटर पर जानकारी दी कि अब तक कोवैक्सीन के नौ प्रकाशन हुए हैं और तीसरे चरण-3 ट्रायल की प्रभावित के बारे में 10वां प्रकाशन होगा.

इसे भी पढ़ें :मुकुल राय टीएमसी में शामिल, भाजपा को बड़ा झटका

बता दें कि ऑक्यूजेन यूएस एक बायोफार्मा कंपनी है, जो हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक के साथ कोवैक्सीन बनाने का काम कर रही है. ऑक्यूजेन ने हाल ही में कनाडा में वैक्सीन बेचने के लिए विशेष अधिकार हासिल किए हैं. अगर अमेरिका में कोवैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल को मंजूरी मिल जाती है तो भारत की स्वदेशी वैक्सीन के लिए एक कामयाबी होती.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: