Bihar

पटना में बालू माफिया से रिश्वत लेते थानेदार गिरफ्तार

Patna : पटना में विजिलेंस की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है. विजिलेंस की टीम ने बालू माफिया से 60 हजार रुपए रिश्वत लेते एक थानेदार को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. गिरफ़्तारी के बाद पुलिस प्रशासन पर बालू माफिया से जुड़ी भूमिका पर अब सवाल उठने लगे हैं. साथ ही थानेदार की गिरफ़्तारी के बाद पुलिस महकमे का सर शर्म से झुक गया है. इसके साथ ही अब ये भी मालूम हो गया है कि बिहार में किस तरह बालू माफिया और पुलिस की मिलीभगत से बालू का अवैध कारोबार होता है. आपको बता दें कि विजिलेंस की टीम ने थानेदार के साथ दो अन्य सिपाहियों को भी गिरफ्तार किया है. निगरानी की टीम गिरफ्तार पुलिसकर्मियों से पूछताछ के आधार पर आगे कारवाई की तैयारी में जुटी है.

इसे भी पढ़ें – खाद्य तेलों की बढ़ती कीमतों पर जल्द लगेगी लगाम, जानिए कैसे मिलने जा रही है आपको बड़ी राहत!

advt

जानकारी के मुताबिक पटना सिटी के दीदारगंज थाना के एसएचओ राजेश कुमार और दो सिपाही को भी गिरफ्तार किया गया है. आपको बता दें कि निगरानी विभाग ने दीदारगंज थानाध्यक्ष को वसूली के आरोप में थाने से एसएचओ को गिरफ्तार किया है. आपको बता दें कि ये पूरा मामला बालू माफियाओं से अवैध वसूली से जुड़ा हुआ है. इस गिरफ़्तारी के बाद चौंका देने वाला खुलासा हुआ है. मिल रही जानकारी के मुताबिक सभी आरोपी पुलिसकर्मी बालू माफिया के लगातार संपर्क में थे और उनसे मोटी रकम भी वसूल करते थे. आपको बता दें कि पुलिस और बालू माफिया से जुड़ी ये कोई पहली खबर नहीं है बल्कि इससे पहले भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं. ज्यादातर ऐसे मामले भोजपुर से भी आते रहते है जहां बालू का अवैध कारोबार होता है. आपको बता दें कि ऐसे ही एक मामले में आरा एसपी एक थानेदार को सस्पेंड भी कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ें – बिहार में पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू, जानें-कब हो सकता है चुनाव

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: