न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शेख हसीना ने कहा,  #CAA_NRC भारत का आंतरिक मामला, पर जरूरत समझ में नहीं आयी

बांग्लादेश की पीएम ने इस बात से भी साफ इनकार किया कि उनके देश से धार्मिक उत्पीड़न के चलते अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भारत पलायन कर रहे हैं.

52

Dhaka : बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने गल्फ न्यूज को दिये इंटरव्यू में कहा है कि  हमने हमेशा यह माना है कि CAA और NRC भारत के आंतरिक मामले हैं. भारत में नागरिकता संशोधन कानून(CAA) लागू किये जाने पर  शेख हसीना ने यह बात कही. हालांकि हसीना ने यह भी कहा कि हम यह नहीं समझ पा रहे कि भारत में इस कानून की क्या जरूरत थी. उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा यह कहा है कि NRC हमारा आंतरिक मामला है.

इसे भी पढ़ें : #CAA पर कपिल सिब्बल के बाद सलमान खुर्शीद ने कहा, राज्य मना नहीं कर सकते, SC के फैसले का इंतजार करें

Aqua Spa Salon 5/02/2020

बांग्लादेश में 10 फीसदी लोग हिंदू हैं

शेख हसीना ने कहा कि अक्टूबर 2019 में जब मैं  दिल्ली गयी थी, तब भी पीएम नरेंद्र मोदी ने यही बात दोहराई थी. जान लें कि 16 करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले बांग्लादेश में 10 फीसदी लोग हिंदू हैं, जबकि महज 0.6 पर्सेंट बौद्ध हैं. इस क्रम में बांग्लादेश की पीएम ने इस बात से भी साफ इनकार किया कि उनके देश से धार्मिक उत्पीड़न के चलते अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भारत पलायन कर रहे हैं.

  भारत से कोई बांग्लादेश नहीं आया

शेख हसीना ने यह भी कहा कि भारत से कोई बांग्लादेश नहीं आया है, लेकिन वहां लोग परेशानियों का सामना कर रहे हैं. जान लें कि संसद ने हाल ही में CAA को मंजूरी दी है. इसके तहत 31 दिसंबर, 2014 तक अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न के चलते भारत आये हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, ईसाई और पारसी समुदाय के लोगों को नागरिकता देने का प्रावधान है.

इसे भी पढ़ें :#Two_Child_Policy पर मोहन भागवत की सफाई, मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा था कि सभी के दो बच्चे होने चाहिए… 

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like