National

शत्रुघ्न सिन्हा ने इंदिरा से की प्रियंका गांधी की तुलना, कहा- संभालें अध्यक्ष पद

New Delhi: कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी की तारीफ में कसीदे पढ़े हैं. एक-एक कर तीन ट्वीट कर उन्होंने प्रियंका गांधी की तुलना पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से की. साथ ही कहा कि वो पार्टी अध्यक्ष बनने के लायक हैं.

इसे भी पढ़ेःसत्यपाल मलिक ने आतंकियों से कहाः बेगुनाहों की जगह उनको मारो जिन्होंने कश्मीर को लूटा

इंदिरा गांधी से तुलना

ram janam hospital
Catalyst IAS

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के सोनभद्र कांड को लेकर योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

पुलिस-प्रशासन ने उन्हें सोनभद्र नहीं जाने दिया. जिसके बाद प्रियंका ने धरना दिया. आखिरकार वो पीड़ित परिवार से मिलकर ही वापस लौटी.

प्रियंका के इस एक्शन की शत्रुघ्न सिन्हा ने जमकर तारीफ की है. नेता-अभिनेता सिन्हा ने ट्वीट कर लिखा कि प्रियंका ने इससे उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद दिला दी.

इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि अब उन्हें पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल लेनी चाहिए.सोमवार सुबह शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रियंका गांधी को लेकर लगातार ट्वीट किये.

उन्होंने लिखा कि सोनभद्र नरसंहार को लेकर प्रियंका गांधी जिस तरह एक्शन में आई उससे इंदिरा गांधी की याद आ गई. बेलची मामले के दौरान जिस तरह इंदिरा गांधी हाथी पर सवार होकर पहुंची थी, ये कुछ वैसा ही था. प्रियंका गांधी पूरे जोश के साथ वहां पर पहुंचीं और उन्होंने गिरफ्तारी को भी हंसकर स्वीकार किया.

संभालें पार्टी अध्यक्ष का पद

उन्होंने ये भी लिखा कि प्रियंका ने इस समय काफी शानदार तरीके से काम किया. मैं उनसे अपील करना चाहता हूं कि पार्टी की प्रमुख बनकर हमारा नेतृत्व करेंगी.

इसे भी पढ़ेःपलामू : डायरिया से बच्चे की मौत, माता-पिता व भाई गंभीर, गांव में दर्जन भर लोग पीड़ित

अगर ऐसा होता है तो ये कांग्रेस पार्टी के मनोबल के लिए काफी अच्छा होगा. वह एक रोल मॉडल हैं. साथ ही एक शानदार नेता हैं. दूसरी पार्टियों को भी उनसे सीखना चाहिए और उन्हें फॉलो करना चाहिए.

हालांकि, पूर्व सांसद के इस ट्वीट ने कांग्रेस पार्टी में अध्यक्ष पद को लेकर बहस फिर छेड़ दी है. गौरतलब है कि राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ते वक्त कहा था कि अगला पार्टी अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होना चाहिये.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीनी विवाद के बाद 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी. इस घटना को लेकर कांग्रेस ने राज्य की योगी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था.

जिसकी अगुवाई प्रियंका गांधी ने की थी, वह पीड़ित परिवार से मिलने सोनभद्र जा रही थीं. लेकिन उन्हें जाने से रोका गया था, जिसके खिलाफ उन्होंने धरना दिया, उन्हें जबरन हिरासत में लेकर एक किले में ले जाया गया. अंतत: भारी विरोध के बाद पीड़ित परिवार के सदस्य उनसे मिलने चुनार किले ही पहुंचे थे.

इसे भी पढ़ेःरिम्स में हर रस्म के लगते हैं पैसे…शेविंग के 150, लाश पहुंचाने के 300 और भी बहुत कुछ

Related Articles

Back to top button