न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शशि थरूर को तसलीमा नसरीन का जवाब, इंडिया हिंदू पाकिस्तान नहीं , इंडिया हिंदू इंडिया है

434

NewDelhi : हिंदू पाकिस्तान विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है. अब बांग्लादेश की चर्चित लेखिका तसलीमा नसरीन ने ट्वीट कर इस विवाद में इंट्री मारी है. कहा कि हिंदू इंडिया मुस्लिम इंडिया से बेहतर है. तस्लीमा ने अपने ट्वीट में लिखा कि इंडिया हिंदू पाकिस्तान नहीं है. इंडिया हिंदू इंडिया है. हिंदू इंडिया मुस्लिम इंडिया से काफी अच्छा है. कहा कि सबसे अच्छा सेक्यूलर इंडिया है. यहां सेक्यूलर का मतलब धर्मिक नहीं, बल्कि गैर-धार्मिक है.  तस्लीमा के ट्‍वीट का समर्थन और विरोध शुरू हो गश है.

एक यूजर ने रिट्वीट किया कि आजादी के बाद भारत हिंदुओं के लिए और पाकिस्तान मुस्लिमों के लिए बना. यहां सेक्युलर का कोई स्थान नहीं है. हम स्वाभाविक रूप से धर्मनिरपेक्ष हैं, जो अब गले की फांस बनता जा रहा है. हमें 1947 की सहमति पर वापस जाना होगा. सेक्युलर शब्द को ही समाप्त करने की आवश्यकता है.

hosp1

भाजपा लोकसभा चुनाव जीत जायेगी,  तो भारत हिंदू पाकिस्तान बन जायेगा

बता दें कि विवाद शशि थरूर के बयान से शुरू हुआ था. थरूर ने कहा था कि यदि 2019 का लोकसभा चुनाव भाजपा जीत जायेगी,  तो भारत हिंदू पाकिस्तान बन जायेगा. भाजपा एक नया संविधान लिखेगी, जहां अल्पसंख्यकों के अधिकारों का कोई सम्मान नहीं होगा. कहा कि संविधान हिंदू राष्ट्र के सिद्धांतो पर आधारित होगा. थरूर के इस बयान पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा था कि कांग्रेस एक बार फिर देश के हिंदुओं को नीचा दिखाने व बदनाम करने का काम कर रही है. कांग्रेस को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए.

हिंदू पाकिस्तान की बात करना लोकतंत्र पर हमला है. थरूर को हिंदुओं का इतिहास पढ़ना चाहिए. थरूर के ऐसे बयानों से तो लश्कर ए तैयबा और आतंकी हाफिज भी उनका फैन बन जायेगा. हालांकि, कांग्रेस ने भी अपने नेता शशि थरूर के के हिंदू पाकिस्तान वाले बयान को खारिज करते हुए कहा कि भारत का लोकतंत्र और इसके मूल्य काफी मजबूत हैं. भारत कभी पाकिस्तान बनने की स्थिति में नहीं जा सकता. कांग्रेस ने इस संबंध में फरमान जारी कर कांग्रेसी नेताओं को चेताया कि किसी भी तरह का बयान सावधानी से दें.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: