National

शशि थरूर ने कहा, सॉफ्ट हिंदुत्व की राह पर चलकर जीरो हो जायेगी कांग्रेस, #Secularism की छवि  बनाये रखनी जरूरी

NewDelhi : कांग्रेस को अपनी धर्मनिरपेक्षता की छवि  बनाये रखनी चाहिए. देश के हिंदी भाषी क्षेत्र के बहुसंख्यक लोगों के तुष्टिकरण से कांग्रेस जीरो में सिमट जायेगी.  भाजपा और उसके सहयोगियों द्वारा हिंदू होने का दावा करना, ब्रिटिश फुटबाल टीम के बदमाश समर्थकों की अपनी टीम के प्रति वफादारी से अलग नहीं है. यह बात  वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शशि थरूर  ने  रविवार को कही.

शशि थरूर ने अपनी किताब द हिंदू वे: ऐन इंट्रोडक्शन हिन्दूस्तान के लोकार्पण के दौरान पीटीआई को दिये इंटरव्यू में दावा किया कि वर्तमान शासन करने वाले लोगों ने हिंदुत्व को विकृत किया है. जिससे वे इसका राजनीतिक लाभ लेकर चुनाव जीतने के लिए अपना हथियार बना सकें. थरूर ने कहा कि उनका मानना है कि आज भी अधिकतर  भारतीय रूढ़िवादिता का विरोध करते हैं और ऐसे लोग हिंदुत्व का राजनीतिक इस्तेमाल नहीं होने देंगे.

इसे भी पढ़ेंः #JPSC की कार्यशैली पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं छात्र, पढ़ें-क्या कहा छात्रों ने…. (छात्रों की प्रतिक्रिया का अपडेट हर घंटे)

धर्मनिरपेक्ष चरित्र की रक्षा का दायित्व कांग्रेस पार्टी को उठाना चाहिए

थरूर ने कहा कि उनका ऐसा मानना है कि देश की धर्मनिरपेक्ष चरित्र की रक्षा का दायित्व कांग्रेस पार्टी को उठाना चाहिए. थरूर ने स्पष्ट किया कि ऐसा सोचना कि हिंदी पट्टी में भाजपा से मुकाबला करने के लिए बहुसंख्यको का  तुष्टीकरण  करना जरूरी है, गलत है.

अगर मतदाताओ के पास असली चीज और उसकी नकल के बीच किसी एक को चुनने का विकल्प हो, तो वह हर बार असली को ही चुनेगा. इस क्रम में थरूर ने कहा कि भाजपा की हाल की सफलता से कांग्रेस को भयभीत होने के बजाय कांग्रेस को उन सिद्धांतों के लिए खड़ा होना चाहिए जिन पर उसने हमेशा विश्वास किया है.

कांग्रेस को लोगों में अपना विश्वास बढ़ाने के लिए लगातार उन्हें प्रेरित करना होगा.  कहा कि देश ऐसे लोगों का सम्मान करेगा जो अपने विश्वासों के साथ मजबूती से खड़े हैं, ना कि ऐसे लोगों का जो समय के साथ अपने मूल्यों से समझौता करते हैं. थरूर  के अनुसार साफ्ट हिंदुत्व की विचारधारा कांग्रेस को शून्य की तरफ ले जायेगी.

इसे भी पढ़ेंः #EconomicSlowDown खस्ता हाल ऑटो सेक्टर को राहत देने में सरकार पर पड़ेगा 30 हजार करोड़ का भार

हिंदी भाषी क्षेत्रों में कांग्रेस बुरी तरह से हारी

जान लें कि  हालिया लोकसभा चुनाव में देश के हिंदी भाषी क्षेत्रों में कांग्रेस बुरी तरह से हारी. जिसके बाद पार्टी के कुछ लोगों ने ऐसा सुझाव दिया कि कांग्रेस को अपने ऊपर लगे अल्पसंख्यक तुष्टिकरण के आरोपों का जवाब देने के लिए अपनी धर्मनिरपेक्ष छवि से समझौता करना चाहिए. कोक लाइट और  पेप्सी जीरो मूल सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड के चीनी रहित और कैलोरी रहित संस्करण हैं.

थरूर ने कहा, हिंदुत्व की खूबसूरती यह है कि हमारे यहां कानून बनाने के लिए न तो कोई पोप होता है और न ही सच्चाई क्या है इस पर कोई इमाम फतवा जारी करता है. साथ ही न कोई अकेला पवित्र ग्रंथ होता है.

इसे भी पढ़ेंः#NewTrafficRule : जमशेदपुर में कैसे होगा पालन, महज 67 ट्रैफिक पुलिस के भरोसे है व्यवस्था

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: