न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शेयरों में उछाल : सेंसेक्स 300 अंक चढ़ा, फिर 11,300 के पार निफ्टी 

669

Mumbai : मजबूत वैश्विक संकेतों के बीच जुलाई डेरिवेटिव की समाप्ति से पहले एचडीएफसी द्वय एवं इन्फोसिस के शेयरों में उछाल से गुरुवार को शुरुआती कारोबार में बीएसई सेंसेक्स 300 अंक से अधिक चढ़ गया.

इसे भी पढ़ें- ऑटो सेक्टर में मंदी का दौरः नहीं घटी जीएसटी तो जा सकती है 10 लाख लोगों की नौकरी 

11,352.45 अंक पर निफ्टी

बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सुबह 9:45 बजे 309.16 अंक यानी 0.82 प्रतिशत की बढ़त के साथ 38,156.81 अंक पर था. निफ्टी 81.15 अंक यानी 0.72 फीसदी चढ़कर 11,352.45 अंक पर था.

पिछले सत्र में बीएसई सेंसेक्स 135.09 अंक यानी 0.36 प्रतिशत की गिरावट के साथ दो माह के निम्न स्तर यानी 37,847.65 अंकों पर बंद हुआ था. इसी तरह निफ्टी भी 59.75 अंक यानी 0.53 फीसदी की गिरावट के साथ 11,271.30 अंक पर बंद हुआ था.

इसे भी पढ़ें- JBVNL में हुए 15 करोड़ के TDS घोटालेबाज को बचाने में फंसे डिप्टी एकाउंटेंट जनरल

इन कंपनियों के शेयरों में उतार-चढ़ाव

गुरुवार को शुरुआती कारोबार में इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी बैंक, सन फार्मा, वेदांता, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक, इन्फोसिस और मारुति के शेयरों में 2.35 प्रतिशत तक की बढ़त देखने को मिली.

वहीं, दूसरी तरफ टाटा मोटर्स, कोटक बैंक, येस बैंक, एशियन पेंट्स, ओएनजीसी एवं एमएंडएम के शेयर 2.28 प्रतिशत तक टूट गए. अन्य एशियाई बाजारों की बात करें तो शंघाई कम्पोजिट इंडेक्स, हांग सेंग, निक्की और कोस्पी प्रारंभिक सत्रों में बढ़त के साथ खुले.

शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़े के मुताबिक बुधवार को विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुद्ध आधार पर 1,393.71 करोड़ रुपये के शेयरों की लिवाली की एवं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 2,140.26 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: