West Bengal

SardaChitFundScam : कलकत्ता उच्च न्यायालय एक अक्टूबर को राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर फैसला सुना सकता है

Kolkata :  कलकत्ता उच्च न्यायालय कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर एक अक्टूबर को अपना फैसला सुना सकता है. इससे पहले कुमार की याचिका पर सोमवार को सुनवाई पूरी हो गयी.

सीबीआई के वकील वाई जे दस्तूर ने न्यायमूर्ति एस मुंशी और न्यायमूर्ति एस दासगुप्ता की गुप्ता की पीठ के सामने कुमार की अग्रिम जमानत याचिका का विरोध करते हुए अपनी दलीलें पूरी कर ली.

इसे भी पढ़ें : #HoneyTrap: वीडियो क्लिप बनाने के लिए लिपस्टिक व चश्मे में छिपे कैमरे का इस्तेमाल करती थीं लड़कियां

advt

वकीलों ने मामले में बंद कमरे में सुनवाई का अनुरोध किया था

सीबीआई वकील की दलील पूरी होने के बाद बंद कमरे में मामले की सुनवाई कर रही पीठ ने सुनवाई स्थगित कर दी. कुमार के वकीलों ने पीठ के समक्ष गुरुवार को याचिका के समर्थन में अपनी दलीलें पूरी कर ली थीं.

उनके वकीलों ने मामले में बंद कमरे में सुनवाई का अनुरोध किया था, जिसपर 25 सितंबर को अदालत ने सहमति प्रकट की थी. अदालत ने निर्देश दिया था कि सुनवाई के दौरान मामले से जुड़े वकील ही मौजूद रहेंगे.

इसे भी पढ़ें : #ChinmanyanadCase: #PriyankaGandhiVadra ने कहा, रेप के आरोपी को बचाने के लिए किसी भी हद तक गिर सकती है योगी सरकार  

21 सितंबर को कुमार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज हुई थी

अलीपुर जिला और सत्र अदालत ने 21 सितंबर को कुमार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी. केंद्रीय जांच एजेंसी ने करोड़ों रुपये के सारदा चिटफंड मामले में एक गवाह के तौर पर पूछताछ के लिए पेश होने को लेकर कुमार को कई नोटिस भेजे थे. वर्तमान में कुमार पश्चिम बंगाल अपराध शाखा विभाग (सीआईडी) में अतिरिक्त महानिदेशक हैं.

adv

इसे भी पढ़ें : #SupremeCourt ने फारूक अब्दुल्ला की हिरासत को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई से इनकार किया

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button