BiharMain Slider

शरद यादव कर सकते हैं घर वापसी, संपर्क में हैं JDU के कई नेता

Patna : बिहार विधानसभा चुनाव से पहले सियासी हलचल तेज है. हर पार्टी में जोड़-तोड़ का सिलसिला जारी है. साथ ही दल बदल का आलम भी पूरे सबाब पर है. किसी राजनेता की घर वापसी हो रही है. तो कोई घर छोड़कर पड़ोस में शरण ले रहा है. जेडीयू और आरजेडी के बीच राजनीतिक समीकरण उफान पर है.

इसी क्रम में बिहार से चौंकाने वाली खबर सामने आयी है. कभी नीतीश कुमार के करीबी रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव की किसी भी दिन घर वापसी हो सकती है. जेडीयू और नीतीश कुमार से नाराज होकर महागठबंधन में शामिल हुए शरद यादव जेडीयू में वापसी कर सकते हैं.

ऐसी खबर है कि शरद यादव जेडीयू में वापसी कर सकते हैं. और जेडीयू के कई नेता भी शरद यादव के संपर्क में हैं. जिससे ऐसा माना जा रहा है कि जल्दी ही जेडीयू के नेता शरद यादव को मनाकर वापसी करवा लेंगे.

शरद यादव इन दिनों बीमार चल रहे हैं और वे दिल्ली के एक अस्पताल में इलाजरत हैं. मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, जेडीयू के कई नेताओं ने शरद यादव का हाल जानने के लिए उनसे संपर्क किया था. और तबियत के बहाने ही जेडीयू में वापसी पर भी उनके चर्चा की थी. जिससे ऐसे कयास  लगाये जा रहे हैं कि विधानसभा चुनाव से पहले ही शरद यादव की घर वापसी करा ली जाये.

इसे भी पढ़ें – 46,79893 छात्रों में 6 लाख को मिल रहा डिजिटल कंटेंट, 2 मिनट में 30 सेकेंड भी वीडियो नहीं देखते बच्चे

RJD में खास तवज्जो नहीं मिली

हालांकि शरद यादव फिलहाल महागठबंधन का हिस्सा हैं. लेकिन RJD में खास तवज्जो नहीं मिलने की वजह से उनकी घर वापसी तय मानी जा रही है. स बारे में JDU के प्रवक्ता राजीव रंजन ने खुलकर तो नहीं लेकिन इशारों में शरद यादव की वापसी के संकेत दिये हैं.

राजीव रंजन ने कहा है कि शरद यादव सामाजिक नेता हैं, लेकिन पार्टी में वापसी को लेकर कोई जानकारी नहीं है. साथ ही कहा कि RJD में शरद यादव महागठबंधन में घुटन महसूस कर रहे हैं और अगर ऐसे में वो वापसी करते हैं तो कोई चौंकाने वाली बात नहीं होगी.

बता दें कि साल 2018 में जेडीयू से बगावत कर शरद यादव ने अपनी अलग पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल का गठन का किया था. उस दौरान नीतीश कुमार से शरद यादव का मनमुटाव भी हुआ था. शरद यादव के पार्टी छोड़ते ही अली अनवर के अलावा अन्य नेताओं ने भी पार्टी छोड़ दी थी.

वहीं जेडीयू से हटने के बाद 2019 में शरद यादव ने मधेपुरा से चुनवा लड़ा था, लेकिन जेडीय़ू के ही दिनेश्वर यादव ने उन्हें 1 लाख वोट से हरा दिया था.

इसे भी पढ़ें – अवमानना केसः SC ने प्रशांत भूषण पर लगाया एक रुपये का जुर्माना, नहीं भरने पर तीन महीनों की जेल

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: