न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शर्मनाक ! बैग में लावारिस मिला तीन महीने का मासूम

चाइल्ड लाइन को सौंपा गया बच्चा

312

Ranchi: राजधानी रांची में इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक और वाक्या सामने आया है. कुछ दिन पहले ही एक नवजात का शव कपड़े से लिपटा मिला था. और अब गुरुवार को एक तीन महीने के मासूम को बरामद किया गया है. डोरंडा स्थित 56 सेट कॉलोनी स्थित विश्वनाथ उरांव के घर पर बैग में बच्चे को कोई लावारिस छोड़ गया. जिसके बाद मामले की जानकारी डोरंडा थाना की दी गई.

इसे भी पढ़ेंः लालू यादव ने किया सरेंडर- पहले होटवार जेल, फिर भेजे जाएंगे रिम्स

थाना प्रभारी चंद्रशेखर ने बताया कि तड़के सुबह चार-पांच के बजे मॉर्निंग वॉक के लिए घर के सदस्य निकले थे. इस दौरान सीढ़ी पर रखे एक बैग पर नजर पड़ी, जब बैग खोलकर देखा गया तो उसमें करीब साढ़े तीन महीने का शिशु मिला.

hosp3

इसे भी पढ़ें- सीवरेज-ड्रेनेज परियोजना पर सांसद महेश पोद्दार ने उठाया सवाल, की जांच की मांग

घर की सीढ़ियों पर पड़ा मिला बच्चा

56 सेट स्थित 56/56 आवास की सीढ़ियों पर बच्चा पड़ा मिला. बच्चे को एक बैग में डालकर कोई सीढ़ियों पर छोड़ गया था. जब घर के सदस्य सुबह-सुबह टहलने के लिए निकले तब बच्चे पर नजर पड़ी. जिसके बाद घर के सदस्यों ने बच्चे को अंदर लाकर उसे साफ-सूथरे कपड़ों में लपेट कर डोरंडा थाना का सूचित किया गया. थाना प्रभारी ने विश्वनाथ उरावं के घर पहुंच, आवश्यक कार्रवाई की. फिर मासूम को अपने साथ थाना ले गए.

इसे भी पढ़ेंः 18 करोड़ की लगात से बने स्लॉटर हाउस पर क्यों लग सकता है ग्रहण

चाइल्ड लाइन को किया गया सुपुर्द

डोरंडा 56 सेट में मिले तीन माह के शिशु को कोकर स्थित चाइल्ड लाइन को सौंपा गया. संस्था के सदस्य रंजीत टोप्पो ने बच्चे को अपने साथ ले गए. थाना प्रभारी ने बताया कि बच्चे के माता-पिता की तलाश की गई. आस-पास के लोगों से भी पूछा गया, लेकिन किसी को बच्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं है. जिसके बाद बच्चे के लालन-पालन को देखते हुए चाइल्ड लाइन वालों से संपर्क किया गया. संस्था के सदस्य को थाने बुलाकर आवश्यक कार्रवाई करते हुए बच्चे को उन्हें सौंप दिया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: