JharkhandRanchi

#Shameful: सीएम की अपील की अवहेलना, पार्षद पति ने सहयोग के बदले निगमकर्मी से की मारपीट, हड़ताल पर जा सकते हैं कर्मी

  • वार्ड 22 के हिंदपीढ़ी इलाके में सैनिटाइजेशन करने पहुंचे निगमकर्मी से पार्षद नाजिया असलम के पति ने की मारपीट
  • नगर आयुक्त ने कहा, शोकॉज कर पूछा जायेगा क्यों नहीं की जाये एफआइआर

Ranchi : कोरोना वायरस को रोकने के लिए निस्वार्थ भाव से राजधानीवासियों की सेवा कर रहे रांची नगर निगम कर्मियों की मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तारीफ की है. उन्होंने लोगों से अपील कर कहा है कि हम सभी की सुरक्षा के लिए सफाईकर्मी अपने घर-परिवार से दूर हैं. हम सबका दायित्व है कि उनकी मदद करें- कोरोना को हरायें, मगर लॉकडाउन का पालन करते हुए घर से.

लेकिन कर्मियों से सहयोग की बात तो दूर, उनके साथ मारपीट की जा रही है. ऐसा एक वाकया वार्ड 22 में घटा है. यहां पर सैनिटाइजेशन करने पहुंचे निगम के एक कर्मी से संबंधित वार्ड पार्षद नाजिया असलम के पति द्वारा मारपीट की गयी है.

पीड़ित कर्मी का नाम  मुकेश कुमार है. घटना को लेकर पीड़ित कर्मी ने निगम के स्वास्थ्य पदाधिकारी को लिखित शिकायत भी की है.

इसे भी पढ़ें : #TabligiJamaat: दो दिन में 14 राज्यों से कोरोना के 647 मरीज सामने आये , जमात की वजह से बढ़े केस – स्वास्थ्य मंत्रालय

पार्षद पति ने स्वीकारा, की है मारपीट

पीड़ित कर्मी ने लिखित शिकायत में कहा है कि वह गाड़ी नंबर JHO1CN6627 ट्रैक्टर का चालक है. कोरोनावायरस को रोकने के लिए शुक्रवार को वह हिंदपीढ़ी के वार्ड 22 में सैनिटाइजिंग करने पहुंचा था.

इस दौरान ट्रैक्टर के उपर चढ़कर मोहल्ले के कुछ बच्चे खेल रहे थे. जब उन्होंने मना किया तो पार्षद के पति द्वारा उसे हाथापाई की गयी. इससे उनके कान में चोट लगी है और वहां बहुत दर्द हो रहा है.

इसकी जानकारी जब पार्षद पति से ली गयी, तो उसने यह स्वीकारा कि उन्होंने निगमकर्मी से हाथपाई की है. उनका कहना था कि कर्मी गलती करेगा, तो पिटायेगा नहीं? कर्मी को ऐसा लगता है कि जैसे कि इलाके के लोगों को छूत की बीमारी हो गयी है.

adv

इसे भी पढ़ें : #Fightagainstcorona : काफी मशक्कत के बाद रांची के कडरू स्थित हज हाउस को बनाया गया क्वॉरंटाइन सेंटर

हड़ताल पर जाने को लेकर शनिवार सुबह होगी बैठक

#Shameful: सीएम की अपील की अवहेलना, पार्षद पति ने सहयोग के बदले निगमकर्मी से की मारपीट, हड़ताल पर जा सकते हैं कर्मी
पीड़ित कर्मी द्वारा दिया गया आवेदन.

निगम सफाईकर्मी कर्मचारी संघ अध्यक्ष दयानंद ने न्यूज विंग से बातचीत में मारपीट की घटना पर चिंता जतायी है. उन्होंने कहा है कि कोरोना जैसी महामारी में भी काफी कम वेतन पर कर्मी लगातार राजधानी के सेवा में है. लेकिन पार्षद पति ने कर्मियों से मारपीट कर इन्हें हतोत्साहित किया है.

उन्होंने कहा है कि शनिवार सुबह सभी कर्मियों की बैठक बुलायी गयी है. कर्मियों की सुरक्षा के साथ अगर आरोपी पर कार्रवाई नहीं हुई, तो सफाई कर्मी हड़ताल पर जाने से पीछे भी नहीं हटेंगे.

शोकॉज कर पूछा जायेगा आखिर क्यों न हो एफआइआर :  नगर आयुक्त

न्यूज विंग से बातचीत में नगर आयुक्त मनोज कुमार ही घटना पर चिंता जतायी है. उन्होंने कहा है कि पीड़ित कर्मी के लिखित शिकायत बाद पार्षद पति को शोकॉज जारी कर पूछा गया है कि आखिर क्यों नहीं उसपर एफआइआर दर्ज की जाये.

हालांकि उन्होंने यह कहा कि गुरुवार को हिंदपीढ़ी इलाके में जाने में जब निगमकर्मी को दिक्कत हो रही थी, तो उसी पार्षद पति ने सहायता भी की थी. लेकिन अब ऐसी घटना करना गलत है. वह भी तब, जब कोरोना महामारी से निगम की पूरी टीम लड़ रही है.

कर्मियों के हड़ताल पर जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि संघ से बातचीत हुई है, वे लोग सफाई काम करेंगे. हालांकि ऐसी घटना दोबारा नहीं हो, इसके लिए काम पर गये कर्मियों के सुरक्षा के लिए इन्फोर्समेंट की एक टीम साथ रहेगी.

इसे भी पढ़ें : #FightAgainstCorona : मेदिनीनगर केन्द्रीय कारा के बंदियों ने अबतक बनाये 5 हजार मास्क

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: