Crime NewsGarhwaJharkhandPalamu

वर्चस्व कायम करने के लिये हुई थी शैलेश व कईल की हत्या

कुख्यात अपराधी छोटू रंगसाज की पत्नी सहित 11 गिरफ्तार

Gadwa: सोनपुरवा बस स्टैंड 28 अप्रैल को शैलेश केसरी व कईल दुबे की हत्या बस स्टैंड पर वर्चस्व कायम करने के लिये हुई थी. रियाजुद्दीन रंगसाज गिरोह ने हत्या को अंजाम दिया था.इसका खुलासा बुधवार गढ़वा के एसपी श्रीकांत सुरेश राव ने जानकारी दी. पुलिस ने रियाजुद्दी की पत्नी समेत 14 लोग इस हत्याकांड के आरोपी है.

इसे भी पढ़ेःरांची विवि छह कॉलेजों के बीएससी नर्सिंग का रिजल्ट निकाला, अस्पतालों को मिल सकेंगे 157 नर्स 

advt

एसपी ने बताया कि रंगसाज ने हजारीबाग जेल में बंद रहते हुए योजना तैयार की थी. इस सिलसिले में 11 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है. तीन अभी भी फरार हैं. उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी तेज की गई है. अपराधियों के पास से दो देसी कट्टा, एक गोली, अट्ठारह मोबाइल फोन, मोटरसाइकिल आदि बरामद हुआ है.

गढ़वा एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में 5 अपराधी पलामू के हैं, जबकि छह अपराधी गढ़वा जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं. उनकी गिरफ्तारी के लिए पलामू, गढ़वा, चतरा और रांची में छापामारी की गई. इसके लिए कई पीएसआई को मिलाकर एक बड़ी टीम बनाई गई थी. टीम के अलग अलग सदस्यों ने अलग-अलग इलाकों में कार्रवाई की.

इसे भी पढ़ेःजहरीली शराब पीने ने 24 लोगों की मौत, कई लोगों की हालत बनी हुई है गंभीर

एसपी ने जानकारी दी कि इसी वर्ष जनवरी में हजारीबाग जेल से छूट कर गढ़वा का अपराधी और छोटू रंगसाज का सहयोगी संतोष चंद्रवंशी जमानत पर बाहर आया था. जेल में रहते हुए छोटू रंगसाज और संतोष चंद्रवंशी ने गढ़वा बस स्टैंड पर वर्चस्व जमाने की प्लानिंग की थी. बनाई गई योजना लेकर संतोष गढ़वा पहुंचा और छोटू रंगसाज की पत्नी सलमा खातून उर्फ पिंकी के साथ मिलकर इसे पूरा किया. 14 अपराधियों को मिलाकर बस एजेंट शैलेश केसरी उर्फ पिंकू केसरी की हत्या की योजना बनाई.

इसे भी पढ़ेःगिरिडीह में फिर से डिजिटल स्कूल संचालित करने का फैसला

डाल्टनगंज रेयाज अहमद ने वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई. जबकि पलामू के की एहसान आलम सज्जू उर्फ सज्जाद अहमद और शोले अहमद प्लानिंग के हिस्सा बने और हथियार का प्रबंध किया. घटना से पहले और बाद में छोटू रंगसाज और उसकी पत्नी लगातार अपराधियों के संपर्क में थे. गढ़वा से छोटू रंगसाज की पत्नी सलमा खातून और पिंकी के अलावा संतोष चंद्रवंशी, पप्पू खान उर्फ शाहिद अली, सत्य पासवान, सलाहु उर्फ सलाउद्दीन खान और उदित चंद्रवंशी को गिरफ्तार किया गया है.

गढ़वा एसपी ने बताया कि छोटू रंगसाज की नजर पलामू और गढ़वा में वर्चस्व कायम करने पर था. इसके लिए उसने अपनी पत्नी के नेतृत्व में अपराधियों की टीम तैयार की थी और गोली चालने की घटनाओं का ब्लू प्रिंट तैयार किया था. पूछताछ के दौरान गिरफ्तार अपराधियों ने इस संबंध में कई खुलासे किए हैं. उस पर पुलिस टीम काम कर रही है.

इसे भी पढ़ेःजामताड़ा : कोरोना काल में सभी पंचायतों में घर बैठे मिलेगी बैंकिंग सेवा, दिया गया ऑनलाइन प्रशिक्षण

गिरफ्तारी अभियान में पीएसआई योगेंद्र कुमार, अभय कुमार, संजय कुमार, सदानंद कुमार, आकाश पासवान, नीरज कुमार, कमलेश कुमार महतो, अजीत कुमार, संजय कुमार कुशवाहा के अलावा सहायक अवर निरीक्षक अभिमन्यु कुमार शामिल थे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: