National

#Shaheen#Bagh#Protest : सुप्रीम कोर्ट के वार्ताकार पहुंचे प्रदर्शनकारियों के पास,  कहा, आंदोलन का हक बरकरार, पर…

NewDelhi : आपके आंदोलन का हक बरकरार है, इसे कोई बंद नहीं कर रहा है. लेकिन इस आंदोलन की वजह से जिन नागरिकों को परेशानी हो रही हैं, उनके भी कुछ अधिकार हैं.  नागरिकता संशोधन एक्ट(CAA) के खिलाफ  दिल्ली के शाहीन बाग में बैठे प्रदर्शनकारियों से बात करने बुधवार को पहुंचे सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकारों ने यह बात कही.

जान लें कि सुप्रीम कोर्ट के वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने यहां लोगों से सीधे संवाद किया. इस क्रम में वार्ताकारों ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बारे में जानकारी दी.

advt

सुप्रीम कोर्ट के वकील संजय हेगड़े शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे

बुधवार दोपहर  सुप्रीम कोर्ट के वकील संजय हेगड़े शाहीन बाग के प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे.  लोगों से कहा कि हमें कोई जल्दबाजी नहीं है, आराम से वे सभी की बात सुनेंगे. वे लोग सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर यहां आये हैं. संजय हेगड़े ने प्रदर्शनकारियों को बताया कि आपसे जो भी बात होगी, वो हम सुप्रीम कोर्ट को जाकर बतायेंगे.

संजय हेगड़े के साथ पहुंचीं वकील साधना रामचंद्रन ने भी लोगों से शांति की अपील की. कहा कि वह सभी की बात पूरी तसल्ली से सुनेंगे और अदालत को जवाब देंगे. दोनों वार्ताकारों ने इस दौरान शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के सामने सुप्रीम कोर्ट का आदेश पढ़कर सुनाया. संजय हेगड़े ने पहले अंग्रेजी में, फिर साधना रामचंद्रन ने  हिंदी में आदेश पढ़ा.

इसे भी पढ़ें : #UN_Chief एंटोनियो गुटरेस ने पाकिस्तान में CAA को लेकर भारत के मुस्लिमों को लेकर चिंता जताई

आंदोलन की वजह से नागरिकों को दिक्कतें हो रही हैं

साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि अदालत ने कहा है कि आपके आंदोलन का हक बरकरार है, इसे कोई बंद नहीं कर रहा है. लेकिन इस आंदोलन की वजह से जिन नागरिकों को दिक्कतें हो रही हैं, उनके भी कुछ अधिकार हैं.  साधना रामचंद्रन बोलीं कि हम ऐसा हल निकालेंगे जो दुनिया के लिए मिसाल होगा.

adv

इसे भी पढ़ें :  सर्दी के बाद अब गर्मी ने की रिकार्ड तोड़ने की तैयारी, तटीय इलाकों में गर्मी ने दी दस्तक, मुंबई में 39 डिग्री पहुंचा पारा

शाहीन बाग में 15 दिसंबर से विरोध प्रदर्शन जारी है

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने यहां अपील करते हुए कहा कि मीडिया को बाहर निकाला जाये, मीडिया के सामने सभी बातें नहीं हो सकती हैं. हालांकि, वहां पर मौजूद प्रदर्शनकारियों ने इसका विरोध किया और मीडिया को वहां रहने के लिए कहा. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि मीडिया भले ही कोई सवाल ना पूछे, लेकिन वो वहां पर मौजूद रहे.

जान लें कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक आदेश में दोनों को वार्ताकार नियुक्त किया था, ताकि प्रदर्शनकारियों से बात की जा सके और प्रदर्शन स्थल की जगह बदली जा सके. CAA के खिलाफ शाहीन बाग में 15 दिसंबर से विरोध प्रदर्शन जारी है. इस प्रदर्शन की वजह से दिल्ली से नोएडा जाने वाला रास्ता बंद पड़ा है जिसपर कई तरह के सवाल खड़े हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : #JNU_Treason_Case : अदालत का दिल्ली सरकार को निर्देश, तीन अप्रैल को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करें

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button