न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, क्या खत्म होगा प्रदर्शन?

782

New Delhi: दिल्ली के शाहीन बाग में करीब दो महीने से जारी धरना-प्रदर्शन को हटाने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सुनवाई करेगा. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ चल रहे महिलाओं के प्रदर्शन के कारण 55 दिन से कालिंदी कुंज-शाहिन बाग का रास्ता बंद है.

इस कारण से स्थानीय लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाली सड़क से होने वाली दिक्कत की बात कही गयी है साथ ही रास्ते को खोले जाने की अपील की गई है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ेंः#DelhiElection से पहले डिप्टी CM सिसोदिया के OSD गिरफ्तार, घूस लेने के आरोप में CBI ने किया अरेस्ट

शाहीन बाग क्षेत्र के मतदान केंद्र संवेदनशील

दूसरी ओर 8 फरवरी को दिल्ली विधानसभा चुनाव होना है. इसके मद्देनजर भी शाहीन बाग का इलाका काफी संवेदनशील माना जा रहा है. यहां सीएए के खिलाफ 55 दिनों से चल रहे प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली निर्वाचन आयोग ने इलाके में आने वाले सभी 5 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा है.

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया कि, ‘शाहीन बाग में मौजूदा विरोध प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए हमने इलाके में सभी 5 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा है. इन 5 केंद्रों पर करीब 40 बूथ होंगे. इन सभी बूथ को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है.’

इन बूथों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं. और जवान विशेष निगरानी रखेंगे.

उल्लेखनीय है कि ओखला के शाहीन बाग इलाके में सीएए और एनआरसी के खिलाफ 15 दिसंबर से महिलाओं और बच्चों समेत सैकड़ों लोग धरने पर बैठे हैं. और दिल्ली चुनाव में ये एक राजनीतिक मुद्दा बनकर उभरा. विशेषतौर से बीजेपी शाहीन बाग धरने को लेकर मुखर दिखी और विरोधियों पर जमकर निशाना साधा.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इसे भी पढ़ेंःमहबूबा-उमर के खिलाफ PSA के तहत मामला दर्ज, चिदंबरम ने बताया लोकतंत्र का सबसे घटिया कदम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like