न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शाह का वार, कहा- कांग्रेस की औकात नहीं कि कश्मीर से हटा दे AFSPA

112

Dehradun : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तराखंड के उत्तरकाशी में AFSPA के मुद्दे पर कांग्रेस पर हमला बोला. जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस कश्मीर से AFSPA हटाना चाहती है.

इस संबंध में उन्होंने कांग्रेस को चुनौती देते हुए कहा कि राहुल बाबा, आपकी पूरी पार्टी की इतनी औकात नहीं है कि सेना के जवानों की सुरक्षा के लिये बनाये कानून को समाप्त कर दें.

इसे भी पढ़ें – कांग्रेस जब-जब सत्ता में आती है, शासन उल्टी दिशा में चलने लगता है : मोदी

hosp3

सरकार देश के जवानों के साथ चट्टान की तरह खड़ी

भाजपा आपके मंसूबों के खिलाफ चटटान की तरह खड़ी है. हम उनकी सुरक्षा को दांव पर नहीं लगा सकते. उनके मनोबल को गिरने नहीं दे सकते. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार देश के जवानों के साथ चट्टान की तरह खडी है.

शाह ने कहा कि उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए. उनके सहयोगी पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं और कांग्रेस चुप है. इनके साथ कांग्रेस ने चुनावी समझौता किया है. मैं कांग्रेस अध्यक्ष से कहना चाहता हूं कि आप स्पष्ट करें कि अब्दुल्ला की अलग प्रधानमंत्री की मांग के साथ आप सहमत हैं या नहीं.

शाह ने चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा के रहते अब्दुल्ला की देश में दो प्रधानमंत्री की मंशा कभी पूरी नहीं होगी. उन्होंने कहा कि हम सत्ता में रहें या विपक्ष में, मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि उनकी यह मंशा हमारी जान रहते कभी पूरी नहीं होगी.

इसे भी पढ़ें – झारखंड कांग्रेस : रांची से सुबोधकांत, सिंहभूम से गीता कोड़ा और लोहरदगा से सुखदेव भगत लड़ेंगे चुनाव

आखिर किसको बचाना चाहती है कांग्रेस : शाह

शाह ने कहा कि क्या समझ रखा है देश को? और कांग्रेस चुप है. कांग्रेस अध्यक्ष चुप हैं. कांग्रेस के चुनाव घोषणापत्र का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता में आने पर वह देशद्रोह से संबंधित धारा को सीआरपीसी से हटाने की बात कही है. शाह ने पूछा कि आखिर कांग्रेस किसको बचाना चाहती है.

उन्होंने आरोप लगाया कि आप किसको बचाना चाहते हैं? जेएनयू में नारे लगे कि ‘भारत तेरे टुकडे़ होंगे 1000’ और आप बाहर जाकर खडे़ रहे. क्या आप उनको बचाना चाहते हैं जिन पर राजद्रोह का मुकदमा चल रहा है. शाह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को वोट बैंक की राजनीति के लिये इतना नीचे नहीं गिरना चाहिए. ना ही देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सोरेन का स्थायी पता पूछनेवाली बीजेपी पर जेएमएम का पलटवार, कहा ‘खौफ में भाजपा नेता, कर रहे मूर्खतापूर्ण सवाल’

शाह का दावा

शाह ने दावा किया कि मोदी सरकार ने सबसे बड़ा काम देश को सुरक्षित रखने का किया है. देश में जब संप्रग की सरकार थी तब कोई भी देश में घुस आता था और जवानों के सिर काटकर पाकिस्तान ले जाता था. कोई जवाब नहीं था. ना माददा था और न इच्छा थी.

पुलवामा आतंकी घटना के बाद देश में पीड़ा, हताशा और आक्रोश के माहौल का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा सीमा पर तोपें और टैंक लगा दिये जाने से सर्जिकल स्ट्राइक संभव नहीं थी. उन्होंने कहा कि इस बार सोनिया मनमोहन सिंह की सरकार नहीं थी, आपकी बनायी हुई नरेंद्र मोदी की सरकार थी जिसने हवाई हमला कर आतंकवादियों को नेस्तनाबूद कर दिया.

हवाई हमलों के बाद कांग्रेस में उदासी छा जाने का आरोप लगाते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इससे पूरे देश में खुशी की लहर छा गयी, हर जगह पटाखे चले, शहीदों के फोटों के साथ जुलूस निकाले गये और मोदी की तस्वीर पर माला पहनाई गयी.

उन्होंने आरोप लगाया कि लेकिन राहुल गांधी एंड कंपनी का चेहरा उदास था. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और राहुल गांधी का चेहरा एक समान था. उन्हें आनंद नहीं हुआ उन्हें लगा कि इससे भाजपा को फायदा होगा.

इसे भी पढ़ें – अनुराग गुप्ता के बाद कई IAS और IPS अधिकारी निर्वाचन आयोग के रडार पर, मांगी रिपोर्ट

पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब केवल मोदी दे सकते हैं : शाह

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस देश को सुरक्षित नहीं रख सकती और ना ही पाकिस्तान और आतंकवादियों को मुंहतोड जवाब दे सकती है. उन्हें मुंहतोड़ जवाब केवल देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही दे सकते हैं.

पिछले आम चुनावों की तरह इस बार भी प्रदेश की पांचों सीटों से भाजपा उम्मीदवारों को विजयी बनाने और प्रधानमंत्री मोदी को मजबूत करने की जनता से अपील करते हुए शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के हाथों में देश सुरक्षित नहीं है.

देश को अगर एक रखना है, उसे सुरक्षित रखना है, उसे महान बनाना है, ग्लोबल लीडर बनाना है, विश्व की शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में लाना है तो यह काम राहुल बाबा या किसी गठबंधन का नहीं है. यह काम केवल प्रधानमंत्री मोदी ही कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: