न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

BCCI में भी यौन प्रताड़ना ! वरिष्ठ अधिकारी पर आरोप, COA चीफ पर भी निशाना

117

New Delhi : क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के एक सीनियर अधिकारी पर यौन प्रताड़ना के आरोप का खुलासा किया है. साथ ही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के द्वारा गठित कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (COA) के चीफ विनोद राय को इस बाबत लेटर लिख उनपर निशाना साथा है.

इसे भी पढ़ें : पुलिस महकमे के एक खास वर्ग का नौकरशाही में वर्चस्व, राष्ट्रपति से शिकायत

कार्रवाई नहीं करने पर COA चीफ की आलोचना

लेटर में आदित्य कुमार ने COA के चीफ की इस मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं करने के लिए उनकी आलोचना की है. गौरतलब है कि डीएनए इंडिया डॉट कॉम ने आदित्य वर्मा के इस लेटर को एक्सेस किया है. डीएनए इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, लेटर में आदित्य कुमार ने विनोद राय पर आरोप लगाए हैं कि वह बीसीसीआई की एक महिला कर्मी के यौन उत्पीड़न के मुद्दे पर चुप रहे. वहीं इस लेटर में आरोपी के नाम का जिक्र नहीं किया गया है.

इसे भी पढ़ें : घुटन में माइनॉरटी IAS ! सरकार पर आरोप- धर्म देखकर साइड किए जाते हैं अधिकारी

लेटर में विनोद राय पर निशाना

आदित्य वर्मा ने COA चीफ विनोद राय पर निशाना साधते हुए कहा कि वह अपनी ड्यूटी सही तरीके से नहीं निभा रहे हैं. क्योंकि उन्होंने इस मामले में किसी तरह की कोई जांच नहीं करायी है. और मामले को जिला शिकायत समिति के पास भी नहीं भेजे जाने का आरोप लगाया. जबकि सुप्रीम कोर्ट ने यौन प्रताड़ना मामले को लेकर गाइडलाइंस बनायी है. साथ ही आदित्य ने इस बार पर भी हैरानी जतायी है कि बीसीसीआई में ऐसे मामलों के लिए किसी तरह की कोई सिस्टम नहीं है. लेटर में यह बताया गया है कि बीसीसीआई ने खुद की शिकायत समिति का गठन 2018 के अप्रैल महीने में किया है.

palamu_12

इसे भी पढ़ें : IAS, IPS और टेक्नोक्रेटस छोड़ गये झारखंड, साथ ले गये विभाग का सोफासेट, लैपटॉप, मोबाइल,सिमकार्ड और आईपैड

क्या है लेटर में

आदित्य ने लेटर में यह भी लिखा है कि यह बहुत ही शर्म की बात है कि आपने कानून के खिलाफ जाकर किसी वरिष्ठ अधिकारी को बचाने की कोशिश की और उनपर कार्रवाई भी नहीं की. वहीं इस मामले को लेकर जब डीएनए ने आदित्य कुमार से बात की तो उन्होंने कहा कि आरोपी अधिकारी ने पीड़िता महिला कर्मी को धमकाकर चुप करा दिया. हालांकि पीड़िता ने अपने सहकर्मियों को इस बात की जानकारी दी थी, लेकिन फिर भी कोई कारवाई नहीं हुई. उल्लेखनीय है कि आदित्य कुमार गैर मान्यता प्राप्त क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव हैं. बीते दिनों बीसीसीआई से मान्यता प्राप्त बिहार क्रिकेट संघ ने आदित्य वर्मा के बेटे पर दो साल का प्रतिबंध लगा दिया था.

इसे भी पढ़ें : पत्रकार से जाति विशेष बातचीत के दौरान IPS  इंद्रजीत महथा ने अपने जूनियर-सीनियर अफसरों को भला-बुरा कहा

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: