Court NewsCrime NewsLead NewsNational

झांसा देकर कई वर्षों तक किया यौन शोषण, शादी से बचने के लिए दिया ज्योतिष कुंडली का हवाला, कोर्ट ने कहा- नहीं चलेगा ये बहाना

बंबई उच्च न्यायालय ने आरोप मुक्त करने की याचिका खारिज की

Mumbai : बंबई उच्च न्यायालय ने 32 वर्षीय एक व्यक्ति को यौन शोषण और धोखाधड़ी के मामले आरोप मुक्त करने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि उसने शिकायतकर्ता महिला, जिसके साथ उसका संबंध था, से शादी करने के अपने वादे से मुकरने के बहाने कुंडली की “ज्योतिषीय असंगति” का इस्तेमाल किया था.

न्यायमूर्ति एस के शिंदे की एकल पीठ ने सोमवार को अभिषेक मित्रा की याचिका खारिज कर दी. इस याचिका में महिला की शिकायत के आधार पर उपनगरीय बोरीवली पुलिस द्वारा उसके खिलाफ दर्ज धोखाधड़ी और बलात्कार के मामले से आरोप मुक्त करने का अनुरोध किया गया था. इस फैसले का विवरण मंगलवार को उपलब्ध कराया गया.

इसे भी पढ़ें:रिम्स से भागे कैदी को पुलिस 48 घंटे बाद भी नहीं ढूंढ़ पायी, टेक्निकल सेल का ले रही मदद

advt

ये कहा आरोपी के वकील ने

मित्रा के वकील राजा ठाकरे ने तर्क दिया था कि “ज्योतिषीय असंगति” के कारण आरोपी और शिकायतकर्ता के बीच संबंधों को आगे नहीं बढ़ाया जा सका. उन्होंने तर्क दिया कि यह शादी के झूठे बहाने धोखाधड़ी और बलात्कार का मामला नहीं है बल्कि वादे के उल्लंघन का मामला है.

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS  : जम्मू कश्मीर में सेना के हेलीकॉप्टर की Crash Landing, दोनों पायलट शहीद

adv

शादी करने का शुरुआत से ही नहीं था इरादा

न्यायमूर्ति शिंदे ने, हालांकि, इस तर्क को स्वीकार करने से इनकार कर दिया और कहा कि इस बात से पता चलता है कि शुरुआत से ही आरोपी का शिकायतकर्ता से शादी करने के अपने वादे को कायम रखने का कोई इरादा नहीं था.

पीठ ने कहा, ‘यह स्पष्ट है कि याचिकाकर्ता (मित्रा) ने कुंडली की ज्योतिषीय असंगति की आड़ में, विवाह के वादे को निभाने से इनकार किया.

इसे भी पढ़ें:पलामू में बैंक लॉकर से गहने गायब होने के रहस्य से उठा पर्दा, शराब व्यापार में घाटे की भरपाई के लिए डिप्टी मैनेजर ने उड़ाये गहने

2012 से एक-दूसरे को जानते थे

इस प्रकार, मुझे पूरी तरह से लगता है कि यह शादी करने के झूठे वादे का मामला है जो स्पष्ट रूप से शिकायतकर्ता की सहमति का उल्लंघन करता है. ” मामले के विवरण के अनुसार, आरोपी और शिकायतकर्ता 2012 से एक-दूसरे को जानते थे, जब वे एक पांच सितारा होटल में काम कर रहे थे और एक संबंध में थे.

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि कई मौकों पर आरोपी ने शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए.

इसे भी पढ़ें:CBSE : साल में दो बार होने वाली बोर्ड की पहली परीक्षा नवंबर में, अक्टूबर में जारी होगा एडमिट कार्ड 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: