Crime NewsJharkhandRanchi

आठ साल से करता रहा यौन शोषण, मामला प्रकाश में आने के बाद से आरोपी फरार

विज्ञापन

Ranchi : राजधानी रांची के कोकर थाना क्षेत्र के रहनेवाला संजय कुजूर एक युवती का लगातार आठ साल से यौन शोषण बनाता रहा. युवती ने केंद्रीय सरना समिति में शिकायत दर्ज करायी और उसके बाद केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष बबलू मुंडा घटना को गंभीरता से लेते हुए आरोपी संजय कुजूर पर प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए सदर थाना पहुंचे.

इसे भी पढ़ें: नक्सलियों की गुरिल्ला आर्मी सप्ताह बनी चुनौती, सभी जिलों में अलर्ट

8 शादियां की हैं आरोपी ने

केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष बबलू मुंडा ने बताया कि आरोपी संजय कुजूर ने आठ शादियां की हैं और सभी को अलग-अलग फ्लैट में रखा है. सूत्रों के मुताबिक संजय कुजूर का रेडियम रोड, बरियातू में भी अपना फ्लैट है जहां पर वह अपनी पत्नियों को रखा करता है. सदर थाना प्रभारी ने बताया कि मामले को संज्ञान में लिया जायेगा और आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर उससे पूछताछ कर सच को सामने लाया जायेगा.

क्या कहा पीड़िता ने

पीड़िता ने बताया कि मेरी गरीबी का फायदा उठाते हुए संजय कुजूर ने अवैध ढंग से स्वर्गीय सुनीता देवी से खरीद मेरे साथ जबरन संबंध बनाया. पीड़िता ने बताया कि संजय कुजूर नशीले पदार्थ मिला कर उसके साथ दुष्कर्म किया करता था. पीड़िता ने आरोपी संजय कुजूर की शादी को लेकर बतया कि उसकी 3 शादियां पहले से ही हो चुकी थीं. गर्भधारण व अपने अपराध को छिपाने के लिए मुझे फुसला कर शिव मंदिर में शादी कर ली. बच्चा होने के बाद मुझे एवं मेरी बच्ची को अपने घर से जबरन मारपीट एवं प्रताड़ित कर निकाल दिया. पीड़िता ने बताया कि वर्ष 2008 में स्वर्गीय सुनीता देवी जो कोकर की रहने वाली थी,  उसके यहां बच्चा खिलाने एवं देखभाल करने का काम करती थी. उस समय मेरी उम्र मात्र महज 15 साल थी. मैं गरीबी के कारण बच्चा देखभाल करने का काम करती थी. उसी समय संजय कुजुर सुनीता देवी के यहां आया करते थे क्योंकि स्वर्गीय सुनीता देवी अवैध ढंग से वेश्यावृत्ति का कार्य करती थी, जिसकी जानकारी हमें नहीं थी. उसी समय सुनीता देवी से संजय कुजूर ने सौदेबाजी कर मुझे उससे खरीद कर मोराबादी स्थित नारायण अपार्टमेंट जो हरिहर सिंह रोड में है, वहां मुझे बहला-फुसला कर रखा. वर्ष 2012 में मैं अपने पिता के पास भाग कर चली गयी वहां जाकर पूरी बातें बतायीं. पीड़िता ने यह भी बताया कि संजय कुजूर ने अपने पैसे के बल पर मेरे आधार कार्ड से छेड़छाड़ कर जन्मतिथि में बदलाव कर दिया. उन्होंने बताया कि हमसे और हमारी बेटी से मारपीट व प्रताड़ना कर घर से बाहर निकाल दिया और हम दोनों इधर उधर भटक रहे हैं. मैं अपनी पुत्री को पढ़ा-लिखा रही हूं जिसका संपूर्ण खर्च मेरे बूढ़े माता पिता चला रहे हैं जबकि संजय कुजूर 3 से 4 अपार्टमेंट खड़ा कर चुका है. संजय कुजूर जिसकी आय दो से ढाई लाख रुपये है, मैं अपना खर्चे चलाने के लिए एक लीगल नोटिस भेज चुकी हूं. इसमें प्रत्येक माह ₹75000 भरण पोषण देने के लिए अनुरोध किया है. जिसका जवाब मेरे अधिवक्ता को अभी तक प्राप्त नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव में झारखंड के कुल 55 AICC सदस्यों की रहेगी अहम भूमिका

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: