NationalUttar-Pradesh

यौन शोषण केस: BJP नेता चिन्मयानंद के खिलाफ पीड़िता ने 43 वीडियो की एक पेनड्राइव SIT को सौंपी

Shahjahanpur(UP): बीजेपी के पूर्व सांसद चिन्मयानंद की मुश्किलें दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही हैं. खबर है कि स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा ने साक्ष्य के तौर पर शुक्रवार देर शाम एसआइटी को एक पेनड्राइव सौंपी जिसमें 40 से ज्यादा वीडियो हैं.

Jharkhand Rai

पीड़िता ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री पर आरोप लगाया है कि वह सिर्फ उसका ही नहीं बल्कि एक अन्य छात्रा का भी यौन शोषण करते थे. वहीं चिन्मयानंद के अधिवक्ता ने सफाई देते हुये कहा कि मसाज/मालिश कराना कोई अपराध नहीं है.

एसआइटी ने शुक्रवार देर शाम तक पीड़ित छात्रा के साथ चिन्मयानंद के आवास पर पूछताछ की. वहां भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं. टीम ने छात्रा की मां को पूछताछ के लिए शनिवार को बुलाया है.

इसे भी पढ़ेंः मुकेश अंबानी की RIL में हिस्सेदारी खरीदने वाली सऊदी अरब की कंपनी  #ARAMCO के दो सेंटरों पर ड्रोन हमला

Samford

बदला चिन्मयानंद के बेडरुम का नजारा

पीड़िता ने शनिवार को न्यूज एजेंसी पीटीआइ से बातचीत में बताया कि एसआइटी जब शुक्रवार को चिन्मयानंद के बेडरुम की जांच करने गई थी, उस समय वह उनके साथ थी.

चिन्मयानंद का बेडरुम पूरी तरह बदल दिया गया है, पूरे कमरे में नया पेंट कराने के साथ ही कमरे को नया लुक दे दिया गया है.

छात्रा ने बताया कि चिन्मयानंद के कमरे से महत्वपूर्ण साक्ष्य हटा दिए गए हैं. लेकिन फॉरेंसिक टीम कमरे से मालिश का तेल रखने वाली दो कटोरियां, चिन्मयानंद का तौलिया, मंजन तथा साबुन आदि सील करके ले गयी है.

टीम के सवालों के जवाब में पीड़ित छात्रा ने बताया कि चिन्मयानंद बीए एलएलबी की एक छात्रा का भी यौन शोषण कर रहे थे. उसने कहा, ‘‘छात्रा ने मुझे कई बार अपनी परेशानी बतायी थी.’’

इसे भी पढ़ेंः वित्त मंत्रीः टैक्स पेयर को राहत, छोटे डिफॉल्ट में नहीं चलेगा आपराधिक मुकदमा

पीड़िता ने सौंपा 43 वीडियो वाला पेनड्राइव

पीड़िता के अनुसार, एसआइटी ने चिन्मयानंद के रुम की तलाशी के दौरान ही पीड़िता और उसके पिता से कहा था इस मामले से जड़े जो भी साक्ष्य उनके पास हैं, उसे वे लोग शुक्रवार रात नौ बजे तक टीम को सौंप दें.

इसपर पीड़िता ने शुक्रवार देर रात पुलिस लाइन स्थित एसआइटी कार्यालय पहुंचकर साक्ष्य उन्हें सौंपे. साक्ष्यों में पीड़िता ने एक 64 जीबी की पेनड्राइव दी है, जिसमें 40 से ज्यादा वीडियो हैं.

पीड़िता ने बताया कि दिल्ली के लोधी कॉलोनी स्थित थाने में उसके हाथ से लिखी 12 पन्नों की शिकायत दी थी. इसके संबंध में एसआइटी ने शुक्रवार को चिन्मयानंद के आवास पर उसका बयान लिया.

छात्रा का कहना है कि एलएलएम में उसके दाखिले के बाद चिन्मयानंद ने अपने गुंडों की मदद से उसे बुलवाया. वे लोग उसे ऊपर के कमरे में छोड़ कर चले गए, इसके बाद चिन्मयानंद ने हमें नहाते हुए हमारा वीडियो दिखाया.

उसके बाद से वह एक साल तक हमारा शारीरिक शोषण और रेप करता रहा. उसका कहना है कि एसआइटी को वह वीडियो बरामद करना चाहिए.

मसाज कराना अपराध नहीं- वकील

वहीं दूसरी ओर चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह का कहना है कि वीडियो में लड़की मालिश करती हुई दिख रही है. लड़की से मालिश कराना कोई अपराध तो नहीं है, तमाम स्पा केन्द्रों में लड़कियां ही मालिश करती हैं. वीडियो में ऐसा बिल्कुल नहीं लग रहा है कि कोई दबाव में आकर कुछ कर रहा है.

गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद पर उन्हीं के कॉलेज में पढ़ने वाली लॉ की एक छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल करके यौन शोषण का आरोप लगाया. इस संबंध में स्वत: संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को एसआइटी के गठन का आदेश दिया था.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड के IAS, IPS, IFS के नाम चिट्ठी, क्यों आप ऐसे हो गये ???

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: