JharkhandRanchi

यौन शोषण मामला : प्रदीप यादव ने HC में दाखिल की जमानत याचिका

Ranchi : झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) विधायक दल के नेता प्रदीप यादव ने यौन उत्पीड़न के मामले में झारखंड हाइकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है. प्रदीप यादव ने अपनी याचिका में इस मामले में जमानत की गुहार लगायी गयी है.

प्रदीप यादव पर उनकी ही पार्टी की एक महिला नेता ने यौन शोषण का आरोप लगाते हुए देवघर महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है.

इसे भी पढ़ें- विधानसभा चुनावः दबाव की राजनीति पर निगम के पार्षद, रांची और हटिया में उतार सकते हैं उम्मीदवार

advt

हाइकोर्ट ने जमानत याचिका को कर दिया था खारिज

झारखंड हाइकोर्ट ने यौन उत्पीड़न के आरोपी झाविमो विधायक प्रदीप यादव की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया था. जज अनिल कुमार चौधरी की अदालत ने 16 जुलाई को विधायक की याचिका को खारिज किया था. विधायक ने अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए एक जुलाई को झारखंड हाइकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी.

इसके बाद उन्होंने निचली अदालत में आत्मसमर्पण किया और जमानत याचिका दाखिल की.  निचली अदालत ने भी उनकी जमानत को नामंजूर करते हुए उनकी याचिका को खारिज कर दिया. इसके बाद प्रदीप यादव ने हाइकोर्ट का रुख किया.

इसे भी पढ़ें- धनबाद : घड़बड़ गांव में नहीं बजती शहनाई, कुंवारे ही बूढ़े हो जाते हैं लड़के

पुलिस की जांच में दोषी पाये गये थे प्रदीप यादव

जेवीएम महिला नेत्री से यौन उत्पीड़न के मामले जेवीएम के पौड़ेयाहाट विधायक प्रदीप यादव को पुलिस जांच में दोषी पाया गया है. केस की अनुसंधानकर्ता साइबर डीएसपी नेहा बाला की रिपोर्ट से इस बात का खुलासा हुआ है. पुलिस की जांच में प्रदीप यादव के खिलाफ आइपीसी की धारा 354, 354ए, 354बी, 354डी, 506 और 509 में मामला सत्य पाया गया है.

adv

गौरतलब है कि झारखंड विकास मोर्चा की एक महिला नेता ने प्रदीप यादव पर यौन उत्पीड़न और अभद्र व्यवहार करने समेत कई अन्य आरोप लगाते हुए महिला थाना में तीन मई को प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

प्राथमिकी के मुताबिक, घटना 20 अप्रैल को करनीबाग के शिव सृष्टि पैलेस होटल में हुई थी. घटना के 13 दिन बाद पीड़िता ने मामला दर्ज कराया था.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button