Bihar

पटना में शुरू हुआ सिलाई-कटाई प्रशिक्षण केंद्र, बोले उद्योग मंत्री- रोजगार में मिलेगी मदद, खुलेंगे 43 केंद्र

Patna: पटना के खादी मॉल परिसर में बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित सिलाई– कटाई प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ किया गया .इसमें 25 महिलाओँ/बच्चियों को 3 माह का प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार के लायक बनाया जाएगा. पूरे राज्य में ऐसे कुल 43 प्रशिक्षण केंद्र खोले जाएंगे जिनमें खादी सूत कताई, रेशमी सूत कताई, खादी बुनाई समेत अन्य कई तरह का प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाएगा.

वहीं कार्यक्रम का शुभारंभ करने के बाद बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि राज्य में छोटे- बड़े उद्योगों को बढ़ावा देने के साथ हमारी कोशिश खादी व हैंडलूम जैसे पारंपरिक उद्योगों को भी बढ़ावा देना है और खासकर बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित प्रशिक्षण केंद्रों में हमारी प्राथमिकता होगी कि ऐसी महिलाओं या बच्चियों को प्राथमिकता दी जाए जिनके पति या पिता कोरोना की वजह से अब इस दुनिया में नहीं हैं.

इसे भी पढ़ें :नीतीश कैबिनेट की बैठक में 17 एजेंडों पर लगी मुहर, 24 सितंबर से 11 चरणों में होंगे पंचायत चुनाव

Catalyst IAS
ram janam hospital

ऐसी महिलाओं, बच्चियों या आश्रितों को प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार के लायक बनाने की हमारी पूरी कोशिश होगी.खादी व हैंडलूम के क्षेत्र में आने वाले दिनों में प्रशिक्षित कामगारों की जरूरत काफी बढ़ेगी. क्योंकि सरकार पटना के तर्ज पर भागलपुर, गया, मुजफ्फरपुर एवं राज्य के अन्य कई शहरों में खादी मॉल खोलने की तैयारी में है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

निश्चित तौर पर जब नए खादी मॉल खुलेंगे तो उसमें बहुत सी संभावनाएं पैदा होंगी. आज जो प्रशिक्षणार्थी प्रशिक्षण पाने की शुरुआत कर रहे हैं, उनके लिए रोजगार के बहुत से अवसर भविष्य में पैदा होंगे.

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि ये साल आजादी के ‘अमृत महोत्सव’ का साल है और हम ऐसे कई प्रयास करेंगे जिससे बिहार के बुनकरों, कारीगरों व अऩ्य शिल्पकारों को लाभ हो.

इसे भी पढ़ें :आधा बरसात बीता, नगर निगम ने निकाला रेनकोट खरीदने का टेंडर

अभी हम बिहार के बाहर रेलवे स्टेशनों पर खादी, हस्तशिल्प व हैंडलूम उत्पादों की प्रदर्शनी सह बिक्री केंद्र खोलने के लिए प्रयासरत हैं .

हमारी कोशिश होगी कि आजादी के ‘अमृत महोत्सव’ के अवसर पर ज्यादा से ज्यादा मेला/प्रदर्शनी का आयोजन करें और केंद्र सरकार द्वारा लगने वाले 75 हुनर हाट में भी बिहार की भागीदारी हो.

बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड को प्रशिक्षण मद में 1 करोड़ 25 लाख रुपये प्राप्त हुआ है, जिससे खादी संस्था / समितियों के माध्यम से राज्य के विभिन्न जिलों में कुल 43 केंद्रों में प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत होगी.

उन्होंने कहा कि हम खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों के प्रचार – प्रसार के लिए भी प्रयासरत्त हैं. कोविड-19 की स्थिति अनुकूल रहने पर अक्टूबर 2021 से खादी के उत्कृष्ट वस्त्रों एवं ग्रामोद्योगों के प्रचार-प्रसार हेतु राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय खादी मेला/ प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :अफगानिस्तान की बदलती तस्वीरें, गांधार, मौर्यकाल, बामियान में बुद्ध की मूर्ति उड़ाने की नापाक तालिबान हरकत

Related Articles

Back to top button