Corona_Updates

#LockDown 2.0 में मिली सीमित छूट के बाद सचिवालय में हलचल, सीएस और कार्मिक सचिव सहित पहुंचे कई अधिकारी

  • 27 दिन बाद खुले सचिवालय में पहुंचे सीमित कर्मी, मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग रखने का सख्त निर्देश

Ranchi : कोरोना महामारी से बचने के लिए लगे लॉकडाउन के बीच सोमवार से चुनिंदा क्षेत्रों में सशर्त छूट दी गयी है. इसमें सार्वजनिक और निजी क्षेत्र भी शामिल हैं. सशर्त मिली छूट के बाद करीब 27 दिन बाद राज्य सचिवालय भी हलचल देखी गयी.

सोमवार को मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, कार्मिक सचिव अजय कुमार सिंह सहित कई आला अधिकारी सचिवालय पहुंचे. इसके अलावा कई कर्मी भी सचिवालय में पहुंच कर कामकाज करते देखे गये. वहीं सचिवालय परिसर में आनेवाले लोगों पर सख्त निगरानी भी रखी गयी. बिना पास के आनेवाले किसी भी व्यक्ति को सचिवालय के मुख्य मार्ग पर ही रोक दिया गया. वहीं जो भी व्यक्ति यहां आये, उन्हें मास्क पहनाना अनिवार्य किया गया. साथ ही सोशल डेस्टिंसिंग का भी सख्ती से पालन कराते देखा गया. पहुंचनेवाले आम लोगों के हाथों को सैनिटाइज करने की भी व्यवस्था सरकार द्वारा की गयी.

इसे भी पढ़ें – बड़ी संख्या में छात्रों ने न्यूजविंग से बांटी अपनी परेशानी, घर जाने के लिए मदद की लगायी गुहार

advt

लिफ्ट की जगह सीढ़ी का करें अधिक से अधिक उपयोग : कार्मिक सचिव

सशर्त मिली छूट के बाद सोमवार को सबसे पहले मुख्य सचिव सुखदेव सिंह सचिवालय पहुंचे. उसके बाद सचिवालय आनेवालों में कार्मिक सचिव अजय कुमार सिंह, नगर विकास सचिव विनय कुमार चौबे, पुलिस महानिदेशक एमवी राव, सीएम के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, खाद्य आपूर्ति सचिव अरूण सिंह, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आप्त सचिव(बाह्य) सुनील कुमार श्रीवास्तव सहित रांची की मेयर आशा लकड़ा शामिल हैं.

मीडिया से बातचीत में कार्मिक सचिव अजय कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश के बाद आज से सशर्त छूट के साथ सचिवालय में कामकाज शुरू किया गया है. आवश्यकतानुसार ही सचिवालय कर्मियों को काम के लिए आने का निर्देश दिया गया है.

इस दौरान आनेवाले लोगों के हाथों को सैनिटाइज करने, मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का पालन कराया जा रहा है. अधिकारियों सहित सभी कर्मियों को निर्देश दिया गया है कि लिफ्ट की जगह सीढ़ी का उपयोग अधिक से अधिक किया जाये.

जानिये लॉकडाउन 2.0 में क्या रहेगा बंद, किसे मिली है अनुमति

#lockdown 2.0 के दौरान निम्न सेवाएं रहेंगी बंद

  • आतिथ्य सेवाओं के अलावा विशेष रूप से अनुमति प्राप्त अन्य सेवाएं
  • टैक्सी (ऑटो रिक्शा और साइकिल रिक्शा समेत) और टैक्सी एग्रीगेटर्स की सेवाएं
  • सभी सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग कॉम्पेलक्स, व्यायाम शाला, स्पोटर्स, कॉम्पलेक्स, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार और ओडिटोरियम, असेंबली हॉल और अन्य ऐसे स्थान
  • सभी सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, धार्मिक कार्य और अन्य समारोह
  • सभी धार्मिक स्थलों, पूजा स्थलों को जनता के लिए बंद रखा जायेगा. धार्मिक सभा पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगी
  • अंतिम संस्कार के मामले में बीस से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नहीं दी जायेगी
  • सुरक्षा और चिकित्सा कार्यों को छोड़ कर सभी घरेलू और अंतराष्ट्रीय हवाई यात्रा
  • सुरक्षा उद्देश्यों को छोड़ कर सभी यात्री ट्रेन सेवा
  • सार्वजनिक परिवहन के लिए बसें, मेट्रो रेल सेवाएं

चिकित्सा कारणों को छोड़ कर व्यक्तियों की अंतर-जिला और अंतरराज्यीय आवाजाही

adv

सभी शैक्षणिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान आदि

विशेष रूप से अनुमति प्राप्त गतिविधियों को छोड़ कर अन्य औद्योगिक और वाणिज्यिक गतिविधियां.

इसे भी पढ़ें – यूपी के नोएडा के आइसोलेशन सेंटर से बाहर आने वाले मृत्युंजय शर्मा की आपबीती, पढ़ कर परेशान हो जायेंगे आप

#Lockdown 2.0 के दौरान वित्तीय, सामाजिक, कार्गों सहित आवश्यक सेवाओं की रहेगी अनुमति

वित्तीय क्षेत्र

  • बैकिंग कार्यों के लिए आरबीआइ और उसके द्वारा विनयमित वित्तीय बाजार और संस्थाएं, बैंक, एटीएम, आइडी वेंडर
  • सेबी और पूंजी व ऋण बाजार की सेवाएं, आइआरडीएआइ और बीमा कंपनियां

सामाजिक क्षेत्र

  • केयर होम एवं ऑब्जर्वेशन होम समेत बच्चों, दिव्यागों और वृद्धों इत्यादि के लिए घर
  • ईपीएफओ द्वारा सामाजिक सुरक्षा पेंशन और भविष्य निधि का भुगतान, आंगनवाड़ी का संचालन

कार्गो सेवाएं

  • हवाई, रेल, भूमि और समुद्री मार्गों द्वारा कार्गों (राज्यीय और अंतरराज्यीय) का परिवहन
  • दो ड्राइवरों और एक सहायक के साथ ढुलाई के वाहनों को अनुमति, डिलिवरी/पिकअप के लिए खाली वाहन

आवश्यक सेवाएं

  • आवश्यक सामानों की आपूर्ति श्रृंखला जैसे कि विनिर्माण, थोक और खुदरा व्यापार, आवश्यक वस्तुओं के लिए दुकानें और गाड़ियां
  • बड़ी ईंट और मोर्टार भंडार, राजमार्ग पर ढाबों और ट्रकों के मरम्मत की दुकानें, आवश्यक सेवाओं के लिए कर्मचारियों और श्रमिकों की आवाजाही

इसे भी पढ़ें – लॉकडाउन का असर :  फिच सॉल्यूशन ने भारत की वृद्धि दर के अनुमानों को घटाया

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button