न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सातवीं ऑल इंडिया पुलिस आर्चरी प्रतियोगिता संपन्न, बीएसएफ रही पहले स्थान पर

32
  • बीएसएफ ने जीते आठ स्वर्ण, चार रजत और छह कांस्य पदक

Ranchi : 15 जनवरी से 19 जनवरी तक खेलगांव शूटिंग रेंज में आयोजित सातवीं ऑल इंडिया पुलिस आर्चरी प्रतियोगिता आयोजित की गयी थी. जैप-1 डोरंडा में प्रतियोगिता का शनिवार को समापन हुआ. इस प्रतियोगिता में बीएसएफ आठ स्वर्ण, चार रजत और छह कांस्य (कुल 18) पदक जीत कर पहले स्थान पर रही. असम रायफल दूसरे और सीआरपीएफ की टीम तीसरे स्थान पर रही. पुलिस आर्चरी टूर्नामेंट प्रतियोगिता के समापन समारोह में विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए. समारोह में झारखंड पुलिस के वरीय पुलिस अधिकारी भी शामिल हुए.

hosp1

352 तीरंदाजों ने लिया भाग

प्रतियोगिता में 17 राज्य और पांच सशस्त्र बलों की टीमों के 352 तीरंदाजों ने भाग लिया. इनमें 248 पुरुष व 104 महिला तीरंदाजों ने 120 पदकों के लिए निशाना लगाया. रिकर्व, कंपाउंड व इंडियन स्पर्धा में प्रतियोगिता का आयोजन हुआ. प्रतियोगिता के गत विजेता 33 तीरंदाजों के साथ उतरी बीएसएफ की टीम एक बार फिर ओवरऑल विजेता बनी.

झारखंड पुलिस को तीसरी बार मिली प्रतियोगिता की मेजबानी

सातवीं ऑल इंडिया पुलिस आर्चरी टूर्नामेंट प्रतियोगिता की मेजबानी का अवसर तीसरी बार झारखंड पुलिस को मिला. इस प्रतियोगिता में झारखंड की टीम को कुल दो पदक मिले. मेजबान झारखंड पुलिस की अंतर्राष्ट्रीय तीरंदाज झानू हांसदा ने भी इंडिविजुअल में अच्छा प्रदर्शन किया.

किस टीम को कितना मिला पदक

बीएसएफ की टीम आठ गोल्ड, चार सिल्वर और छह ब्रॉन्ज (कुल 18) पदकों के साथ पहले स्थान पर रही. असम रायफल की टीम आठ गोल्ड, चार सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज (कुल 15) पदकों के साथ दूसरे स्थान पर रही. सीआरपीएफ की टीम पांच गोल्ड, 12 सिल्वर और आठ ब्रॉन्ज (कुल 25) पदकों के साथ तीसरे स्थान पर रही. इनके अलावा राजस्थान 11, महाराष्ट्र सात, आईटीबीपी आठ, असम छह, मणिपुर तीन, एसएसबी पांच, नगालैंड तीन, पंजाब सात, झारखंड दो, आंध्र प्रदेश को एक पदक मिला. वहीं, बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, कोलकाता, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड की टीम को बिना कोई पदक के संतोष करना पड़ा.

इसे भी पढ़ें- सरकार के दबाव में प्रशासनिक सेवा के अफसरों ने दूसरी बार आंदोलन स्थगित किया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: