न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: सड़क जाम करने व छात्रों को उकसाने के आरोप में सात नामजद, 150 अज्ञात पर प्राथमिकी

सात नामजद में से एक आरोपी गिरफ्तार

11

Palamu: शहर थाना क्षेत्र के बैरिया चौक के पास शुक्रवार को ट्रक की चपेट में आने से हुई छात्र की मौत के बाद लंबे समय तक सड़क जाम कर हंगामा करने के आरोप में 7 के खिलाफ नामजद और 150 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. वही सात नामजद आरोपियों में से एक की गिरफ्तारी हुई है. सदर सीओ सह कार्यपालक दंडाधिकारी के आवेदन पर मामला दर्ज कराया गया है.

इसे भी पढ़ेंः1700 करोड़ का प्रोजेक्ट चार साल में पूरा नहीं, अब वर्ल्ड बैंक से लोन लेकर बनेंगे 25 ग्रिड, 2600 करोड़ का है प्रोजेक्ट

सात के खिलाफ नामजद प्राथमिकी, एक गिरफ्तार

दर्ज प्राथमिकी में बड़की बैरिया निवासी कामख्या सिंह के पुत्र चंदन सिंह, गायत्री मंदिर रोड निवासी मुन्न यादव, बाजार समिति रोड निवासी गुरूचरण गुप्ता और दीप्ति सिंह, बैरिया चौक निवासी सद्दाम हुसैन, आबादगंज निवासी श्रवण सिंह एवं चंदन यादव के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. नामजद आरोपियों में एक नलिन रंजन उर्फ चंदन सिंह को गिरफ्तार किया गया है. उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंःचार माह में रिकॉर्ड 413 अफसर बदले, 40 IAS भी इधर से उधर, हर दिन औसतन दो ऑफिसर का हुआ ट्रांसफर

नाबालिग छात्रों को भड़काया

सीओ ने आरोप लगाया है कि सड़क हादसे में वीपीएम ज्ञान निकेतन के 10वीं के छात्र विद्यासागर की मौत के बाद उपरोक्त युवकों ने नाबालिग छात्रों को भड़काया और चार से पांच घंटे तक शव के साथ बैरिया चौक को जाम रखा. कई बार युवकों को समझाने की कोशिश की गयी, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं हुए. जाम हटाने के बजाए युवकों द्वारा वाहन में आग लगा देने की धमकी दी गयी. इस तरह से सड़क जाम करने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया और आम लोगों के अधिकारों का हनन हुआ. नाजायज मजमा बनाकर मार्ग अवरूद्ध किए जाने से सरकारी कार्य में बाधा आयी.

palamu_12

इसे भी पढ़ेंःन्यूज विंग ब्रेकिंग: IAS आलोक गोयल का रुका प्रमोशन- दंड तय, 1990…

शाम से शुरु हुआ हंगामा रात 10 बजे थमा

शुक्रवार शाम शव के साथ प्रदर्शन, सड़क जाम

गौरतलब है कि शुक्रवार देर शाम से मुआवाजा और नौकरी सहित अन्य मांगों को लेकर शुरू हुआ हंगामा रात 10 बजे तक चला. हालांकि इस दौरान सरकारी नौकरी और मुआवजा दिलाने की मांग पर जोर दिये जाने के कारण अधिकारियों ने इसपर विचार करने का आश्वासन दिया. और अन्य मांगों को गंभीरता पूर्वक संबंधित विभागों से दूर कराने की बात कही गयी. जाम हटाने के लिए एसपी इन्द्रजीत महथा, एसडीओ सदर नंदकिशोर गुप्ता, डीएसपी प्रेमनाथ, इंस्पेक्टर तरूण कुमार भी मौके पर पहुंचे थे.
ज्ञात हो कि शुक्रवार को छात्र विद्यासागर ट्रक की चपेट में आ गया था. साइकिल से ट्यूशन पढ़कर लौटने के दौरान पाटन के हिसरा बरवाडीह निवासी छात्र विद्यासागर की ट्रक से धक्का लगने के बाद मौत हो गयी थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: