Crime NewsJharkhandRanchiSahibganj

सरायकेला : 40-45 हथियारबंद माओवादियों के साथ कैंप कर रहे कमांडर

Ranchi : सरायकेला जिले के कुचाई थाना क्षेत्र के रायसिंदरी हिल की दुर्गम पहाड़ियों पर एक करोड़ का इनामी माओवादी आकाश के साथ पश्चिम बंगाल स्टेट कमेटी का अतुल उर्फ पिंटू महतो, झारखंड रीजनल कमेटी के अमित मुंडा, जोनल कमांडर महाराज प्रमाणिक करीब 40-45 हथियारबंद माओवादियों के साथ कैंप कर रहे हैं.

आइबी ने पूरे मामले में झारखंड पुलिस को रिपोर्ट भेजी है, जिसके बाद राज्य पुलिस के स्तर से सतर्कता बरतने का आदेश जिलों के एसपी को दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- घूस लेते गृह मंत्रालय का अधिकारी गिरफ्तार, #CBI ने 16 लाख कैश के साथ पकड़ा

संगठन मजबूत बनाने के लिए कर रहे हैं कैंप

झारखंड में नक्सलियों की उपस्थिति को दोबारा कायम करने के लिए टॉप नक्सली नेता झारखंड में कैंप कर रहे हैं. झारखंड के सरायकेला जिले के कुचाई में बंगाल और झारखंड के शीर्ष माओवादियों का दस्ता कैंप चला रहा है.

झारखंड में संगठन को मजबूत बनाने के लिए माओवादियों के पश्चिम बंगाल कमेटी और सेंट्रल कमेटी सदस्य असीम मंडल उर्फ आकाश अपने दस्ते के साथ मौजूद है.

इसे भी पढ़ें- # KashmirIssue : आखिर पाकिस्तानी मंत्री शाह ने कबूला, कश्मीर मसले पर हमारी कोई नहीं सुन रहा

समय-समय पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे नक्सली

सरायकेला-खरसावां और चाईबासा बोर्डर पर करीब एक साल से हार्डकोर नक्सलियों का दस्ता सक्रिय है. जो समय-समय पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है.

adv

सूत्रों के मुताबिक सरायकेला के कुचाई जंगल में कुछ महीने पहले स्पेशल एरिया कमेटी (सैक) से पदोन्नति पाकर सेंट्रल कमेटी का सदस्य बना कुख्यात माओवादी नेता अनल दा उर्फ तूफान दा उर्फ पतिराम मांझी अपने दस्ता के साथ करीब एक साल से डेरा डाले हुए है.

पतिराम की सुरक्षा की जिम्मेदारी महाराज प्रमाणिक व अन्य नक्सलियों के कंधे पर है. पतिराम मांझी गिरिडीह जिला के पीरटांड़ थाना अंतर्गत पीपराडीह गांव का रहनेवाला है. पतिराम मांझी की गतिविधियां व आतंक झारखंड के पारसनाथ पहाड़ी, सारंडा, कोल्हान, पोड़ाहाट में भी रहा है.

इसे भी पढ़ें- #SoniaGandhi ने कहा, देश आर्थिक मंदी की चपेट में, पर मोदी सरकार बदले की राजनीति में व्यस्त

आसपास के जिलों को भी सतर्क रहने का आदेश

माओवादी दस्ते के कुचाई में कैंप करने की सूचना पर रांची, खूंटी, चाईबासा और जमशेदपुर जिला को भी सतर्क किया गया है. कुचाई का इलाका रांची, खूंटी जिले से भी सटा हुआ है.

माओवादियों ने अपनी भौगोलिक सुविधा के लिहाज से कुचाई का चयन किया है. राज्य पुलिस के द्वारा माओवादियों के हथियारबंद दस्ते की सूचना मिलने के बाद इलाके में अभियान की तैयारी भी की जा रही है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: