Crime NewsJamshedpurJharkhandSaraikela

Saraikela : ईचागढ़ में अवैध बालू उठाव के खिलाफ कार्रवाई, 14 हाइवा और चार ट्रैक्टर जब्त, कारोबारियों में हड़कंप

Jamshedpur : अवैध बालू उठाव को लेकर चर्चा में रहनेवाले पड़ोसी जिले सरायकेला-खरसावां में इस धंधे पर रोक लगाने को लेकर कार्रवाई शुरु कर दी है. इसके लिये गठित टास्क फोर्स ने बीती देर रात ईचागढ़ थाना क्षेत्र में जगह-जगह छापेमारी की. इस दौरान 14 हाइवा और चार ट्रैक्टर जब्त किया गया. इनमें से छह हाइवा को इचागढ़ थाना परिसर में खड़ा किया गया है. इसके अलावा आठ बालू लदे हाइवा को रुगड़ी बाजार से लेकर टिकर तक खड़ा किया किया गया है. पुलिस की इस कार्रवाई से अवैध रुप से बालू उठाने के धंधे में लिप्त लोगों में हड़कंप है. हालांकि इस मामले में अब तक जिला पुलिस की ओर से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है.
सरकार को होता है लाखों के राजस्व का नुकसान
इधर क्षेत्र के लोगों का कहना है कि ईचागढ़ थाना क्षेत्र के जारगोडीह, बिरडीह, सोड़ो स्वर्णरेखा नदी घाट के अलावा पास के तिरुलडीह थाना क्षेत्र के सापारुम, बाबुनडुह, पोयलोंग स्वर्णरेखा नदी घाट से हर दिन करीब दो सौ से तीन सौ हाइवा से अवैध रुप से बालू का उठाव किया जाता है. इससे सरकार को लाखों रुपये के राजस्व का नुकसान होता है. यह मामला समय-समय पर क्षेत्र के लोग उठाते रहे हैं. बावजूद इसके बालू के अवैध उठाव पर रोक लगाने को लेकर अब तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गयी थी.
हर हाइवा से वसूले जाते हैं 15 सौ रुपये
इस बीच बालू उठाव में लगे हर एक हाइवा के चालक या मालिक से प्रतिदिन पंद्रह सौ रुपये वसूलने का मामला भी सामने आते रहा है. उसके बाद बालू लदे वाहन को बगैर किसी रोक-टोक के जाने दिया जाता है. वहीं, बालू लदे कुछ वाहनों के पकड़े जाने के बाद थाना स्तर से छोड़े जाने के मामले भी बीच-बीच में सामने आते रहते हैं. इससे समझा जा सकता है कि क्षेत्र में किस तरह से बालू के अवैध उठाव का मामला जोरशोर से चल रहा था. वैसे, पुलिस प्रशासन की ताजा कार्रवाई के बाद इस धंधे पर अंकुश लगाने की उम्मीद जतायी जा रही है.

इसे भी पढ़े : जमशेदपुर : एमजीएम अस्‍पताल में मरीज की मौत के बाद परिजनों व‍िवाद, हंगामा

 

Related Articles

Back to top button