Business

200 अंक से अधिक चढ़ा सेंसेक्स, डॉलर के मुकाबले रुपया 17 पैसे मजबूत

Mumbai : इंफोसिस और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी बड़ी कंपनियों में तेजी और वैश्विक बाजारों के सकारात्मक संकेतों के दम पर शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक मजबूत हो गया.

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में एक समय 223 अंक की बढ़त में रहा. कुछ देर बाद यह 164.05 अंक यानी 0.45 प्रतिशत की तेजी के साथ 36,808.47 अंक पर चल रहा था. एनएसई का निफ्टी भी 44.15 अंक यानी 0.41 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,892.05 अंक पर चल रहा था.

गुरुवार को सेंसेक्स 80.32 अंक की गिरावट में बंद हुआ था. हालांकि निफ्टी में 3.25 अंक की मामूली तेजी रही थी.

इसे भी पढ़ें- सीताराम येचुरी ने #Kashmir दौरे की रिपोर्ट SC को दी, कोर्ट ने केंद्र सरकार से मांगा जवाब

इन कंपनियों के शेयर में रही तेजी और सुस्ती

सेंसेक्स की कंपनियों में टेक महिंद्रा सर्वाधिक तेजी में रही. इसके अलावा भारती एयरटेल, एक्सिस बैंक, एनटीपीसी, ओएनजीसी, टाटर मोटर्स, इंफोसिस, पावरग्रिड और रिलांयस इंडस्ट्रीज में 1.95 प्रतिशत तक की तेजी रही.

हालांकि सन फार्मा, येस बैंक, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक और एचसीएल टेक में 2.47 प्रतिशत तक की गिरावट रही. शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, गुरुवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 561.17 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी की. हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशक 699.31 करोड़ रुपये के शुद्ध खरीदार रहे.

इसे भी पढ़ें- #EconomyRecession जल्द खत्म हो सकती है ऑटो सेक्टर के विकास की कहानी: टाटा मोटर्स

शुरुआती कारोबार में रुपया 17 पैसे मजबूत

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार वार्ता पुन: शुरू होने की खबरों से निवेशकों में उत्साह और  घरेलू शेयर बाजारों की तेज शुरुआत के कारण शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 17 पैसे मजबूत हो गया.

गुरुवार को रुपया 28 पैसे की बढ़त लेकर 71.84 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था. कारोबारियों ने कहा कि अक्टूबर में अमेरिका और चीन के बीच व्यापार वार्ता फिर शुरू होने की खबर से निवेशकों में उत्साह रहा. इसके अलावा घरेलू शेयर बाजारों की तेज शुरुआत ने भी रुपये की मदद की.

हालांकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआइ) की सतत निकासी और कच्चा तेल में तेजी आने से रुपये पर दबाव रहा. शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, गुरुवार को एफपीआइ ने 561.17 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी की.

Related Articles

Back to top button