न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सेंसेक्स 138 अंक मजबूत, रुपया 26 पैसे टूटकर पहली बार 71 के न्यूनतम स्तर पर

पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 206.53 अंक टूटा था

289

Mumbai : बंबई शेयर बाजार का मानक सूचकांक सेंसेक्स शुक्रवार को शुरूआती कारोबार में 138.06 अंक मजबूत होकर 38,828.16 अंक पर पहुंच गया. नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 11,700 के स्तर को फिर से प्राप्त कर लिया. शुरू में बाजार में गिरावट दर्ज की गयी थी.

mi banner add

पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 206.53 अंक टूटा था

तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 138.06 अंक या 0.36 प्रतिशत की मजबूत होकर 38,828.16 अंक पर पहुंच गया. एक समय यह 38,611.46 के न्यूनतम स्तर पर चला गया था. पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 206.53 अंक टूटा था. नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 47.70 अंक या 0.41 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,724.50 अंक पर पहुंच गया. इसमें भी शुरू में 11,654.80 अंक तक चला गया था. स्वास्थ्य, आईटी, प्रौद्योगिकी, बिजली और उपभोक्ता टिकाऊ समेत सभी खंडवार सूचकांक दो प्रतिशत तक मजबूत हुए. कारोबारियों के अनुसार निवेशकों की नजर शुक्रवार शाम जारी होने वाले अप्रैल-जून के जीडीपी आंकड़े पर है.

डॉलर के मुकाबले रुपया 26 पैसे टूटा

Related Posts

एक साल से ज्यादा समय से जुड़े विप्रो के कर्मचारियों को मिला एक लाख रुपये का बोनस

आईटी कंपनियां अपने जूनियर कर्मचारियों को रोकने के लिए बोनस के रूप में  पैसा देने लगी हैं, ताकि कर्मचारी भविष्य में भी उसके साथ जुड़े रहें.

कच्चे तेल की बढ़ती कीमत के बीच डालर की मांग बढ़ने से रुपया शुक्रवार को शुरूआती कारोबार में 26 पैसे की गिरावट के साथ 71 रुपये के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में डालर के मुकाबले रुपया गुरुवार को स्थानीय मुद्रा 70.95 रुपये पर खुला और बाद में 71 रुपये के स्तर पर चला गया. रुपया गुरुवार को 70.74 पर बंद हुआ था.

अंत में तेल आयातकों की तरफ से अमेरिकी करेंसी की मजबूत मांग

मुद्रा कारोबारियों के अनुसार माह के अंत में तेल आयातकों की तरफ से अमेरिकी करेंसी की मजबूत मांग, चीन-अमेरिका के बीच व्यापार तनाव के साथ ब्याज दर बढ़ने की उम्मीद में विश्व की अन्य प्रमुख मुद्रा की तुलना में डालर के मजबूत होने से घरेलू मुद्रा पर असर पड़ा. कच्चे तेल की कीमत में वृद्धि के कारण मुद्रास्फीति बढ़ने की आशंका और घरेलू शेयर बाजार विदेशी संस्थागत निवेशकों की कोष की निकासी से भी रुपये पर असर पड़ा है. एशियाई कारोबार की शुरूआत में मानक ब्रेंट क्रूड का भाव 78 डॉलर बैरल पर पहुंच गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: