BusinessNational

सेंसेक्स धड़ाम, 1066 अंक नीचे लुढ़का, निवेशकों के 3.3 लाख करोड़ डूबे

शेयर बाजार में गिरावट की एक वजह वीकली एक्‍सपायरी का दिन है. आसान भाषा में समझें तो इस दिन का निवेशक मुनाफावसूली के लिए इंतजार करते हैं

Mumbai : आज सेंसेक्स धड़ाम हो गया. सेंसेक्‍स 1066 अंक लुढ़क गया. इस गिरावट से बीएसई इंडेक्‍स पर निवेशकों को तीन लाख करोड़ से ज्‍यादा का नुकसान होने की खबर है. बता दें कि सप्‍ताह के चौथे कारोबारी दिन गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार ने बीते 10 दिन की बढ़त गंवा दी.

शुरुआती कारोबार में बढ़त के बाद अंत में सेंसेक्‍स 1066 अंक यानी 2.61 फीसदी लुढ़क कर 39,728.41 अंक पर पहुंच गया. निफ्टी 11,680.35 अंक पर बंद हुआ. निफ्टी में 290.70 अंक या 2.43 फीसदी की गिरावट रही.

इसे भी पढ़ें : SC में केंद्र सरकार ने अपनी बात रखी, कहा, दिल्ली विधानसभा को हेट स्पीच के मामले में अधिकार नहीं

शेयर बाजार में गिरावट की कई वजह रही

गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार में गिरावट की कई वजह रही. सबसे बड़ी वजह वैश्‍विक स्‍तर पर मिले संकेत हैं. दरअसल, चुनाव के पहले राहत पैकेज नहीं मिलने की आशंका से अमेरिकी बाजारों में दबाव का माहौल है.

जान लें कि अमेरिका के ट्रेजरी सेक्रेटरी ने कहा है कि अमेरिका में चुनाव से पहले राहत पैकेज मुमकिन नहीं है. इसके अलावा यूरोप में लॉकडाउन की आहट से भी बाजार सहम गया है.

इसे भी पढ़ें : कांग्रेस नेता उदित राज का ट्वीट,  कुंभ मेले में सरकारी 4200 करोड़ खर्च करने पर सवाल उठाया, भाजपा हुई हमलावर

जीडीपी अनुमान की वजह से निवेशकों की चिंता बढ़ी

आईएमएफ के भारत समेत दुनियाभर में जीडीपी अनुमान की वजह से भी निवेशकों की चिंता बढ़ी है. आईएमएफ ने कहा है कि इस साल भारत समेत वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था अपने सबसे बुरे दौर में रहेगी. हालांकि, नये वित्‍त वर्ष में सुधार का अनुमान जताया गया है.

adv

शेयर बाजार में गिरावट की एक वजह वीकली एक्‍सपायरी का दिन है. आसान भाषा में समझें तो इस दिन का निवेशक मुनाफावसूली के लिए इंतजार करते हैं.

कोरोना महामारी से दुनिया सबसे गहरी मंदी से जूझ रही है

इस बीच,  विश्व बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनिया 1930 के दशक की महामंदी के बाद से सबसे गहरी मंदी से जूझ रही है और उन्होंने कोविड-19 महामारी को कई विकासशील और सबसे गरीब देशों के लिए भयावह घटना बताया. इस बयान की वजह से भी निवेशकों में भय का माहौल है.

इसे भी पढ़ें : मोदी ने ‘जनता के राष्ट्रपति’ एपीजे अब्दुल कलाम को किया याद, कहा- देश के विकास में उनके योगदान को भारत कभी नहीं भूल सकता

निवेशकों को तीन लाख करोड़ से ज्‍यादा का नुकसान 

कारोबार के अंत में बीएसई इंडेक्‍स के मार्केट कैप में बड़ी गिरावट आयी. इस वजह से निवेशकों को तीन लाख करोड़ से ज्‍यादा का नुकसान हुआ है. बुधवार को बीएसई लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 1,60,56,605.84 करोड़ था. यह गुरुवार को घटकर 1,57,65,742.89 करोड़ रुपये रह गया.

कारोबार के अंत में बीएसई इंडेक्‍स में एशियन पेंट को छोड़कर सभी 29 शेयर लाल निशान पर बंद हुए. सबसे ज्‍यादा गिरावट बजाज फाइनेंस में रही. बजाज फाइनेंस के अलावा टेक महिंद्रा के शेयर भी 4 फीसदी से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुए.

वहीं, बैंकिंग सेक्‍टर के इंडसइंड बैंक, एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक और कोटक बैंक के शेयर में 3 फीसदी की गिरावट रही.  इसी तरह, रिलायंस, एयरटेल, एचसीएल के शेयर भी तीन फीसदी से अधिक लुढ़क गये.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: