न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#BSE: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच सेंसेक्स 36,500 से नीचे

डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे मजबूत

1,022

Mumbai: दुनियाभर में मंदी की गंभीर आशंका और अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध के बीच मिले-जुले वैश्विक संकेतों एवं विदेशी निवेशकों की भारी बिकवाली से बुधवार को शुरुआती कारोबार में घरेलू शेयर बाजार में बहुत अधिक उतार-चढ़ाव का रुख देखने को मिला.

बीएसई सेंसेक्स पर पहले 15 मिनट के कारोबार में 200 अंक तक का उतार-चढ़ाव देखने को मिला.  सुबह साढ़े नौ बजे 11.30 यानी 0.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ सेंसेक्स 36,551.78 अंक पर रहा. वहीं, एनएसई निफ्टी 4.50 अंक यानी 0.04 प्रतिशत फिसलकर 10,793.40 अंक पर था.

कुछ देर बाद सेंसेक्स 70 अंक लुढ़ककर 36 500 के नीचे आ गया, वहीं निफ्टी में भी 30 अंकों की गिरावट दर्ज की गयी. विफ्टी 10770 के स्तर पर कारोबार करता दिखा.

इसे भी पढ़ेंःप्रधानमंत्री से बेखौफ होकर तर्क करने वाले नेतृत्व की देश को जरुरत है- #Murli_Manohar_Joshi

इससे पहले मंगलवार को सेंसेक्स 769.88 अंक यानी 2.06 प्रतिशत का गोता लगाकर 36,562.91 अंक एवं निफ्टी 225.35 अंक यानी 2.04 फीसदी टूटकर 10,797.90 अंक पर बंद हुआ था.

बुधवार को शुरुआती कारोबार में सन फार्मा, इंडसइंड बैंक, एशियन पेंट्स, आरआईएल, मारुति और टाटा मोटर्स के शेयरों में सबसे अधिक गिरावट का रुख रहा. शुरुआती कारोबार में बैंकिंग और ऑटो सेक्टर शेयर लाल निशान पर आ गये.

वहीं, आइटीसी, भारती एयरटेल, एसबीआइ, पावरग्रिड, हीरो मोटोकॉर्प, वेदांता और एलएंडटी के शेयरों में बढ़त देखने को मिली.

शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को शुद्ध आधार पर 2,016.20 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे. वहीं, घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,251.35 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे.

डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे मजबूत

Related Posts

छह कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 50,580 करोड़ बढ़ा, #SBI आईसीआईसीआई बैंक सर्वाधिक लाभ में

रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी और कोटक महिंद्रा बैंक भी लाभ में रहे.  वहीं दूसरी तरफ टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस), हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंफोसिस और आईटीसी नुकसान में रही.

विदेशी बाजारों में डॉलर के कमजोर होने से बुधवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया 19 पैसे मजबूत होकर 72.20 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर पहुंच गया.

घरेलू शेयर बाजार में मंगलवार को भारी गिरावट, वृहद आर्थिक परिदृश्य के कमजोर होने के कारण रुपया 97 पैसे फिसलकर नौ माह के सबसे निचले स्तर 72.39 पर पहुंच गया था.

इसे भी पढ़ेंः#Chandrayaan-2 को निचली कक्षा में उतारने का दूसरा चरण पूरा

अंतरबैंक विदेशी विनिमय बाजार में बुधवार को रुपया 19 पैसे मजबूत होकर 72.20 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर खुला. हालांकि, भारतीय मुद्रा अपनी मजबूत बढ़त बरकरार नहीं रख सका एवं करीब दस बजे तीन पैसे फिसलकर 72.23 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर आ गया.

विदेशी मुद्रा कारोबारियों का कहना है कि अमेरिकी डॉलर के अन्य विदेशी मुद्राओं की तुलना में कमजोर पड़ने से घरेलू मुद्रा को मजबूती मिली.

हालांकि, कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों एवं विदेशी निवेशकों की भारी बिकवाली के कारण रुपये की मजबूती सीमित रही. वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट कच्चे तेल का वायदा 0.21 प्रतिशत की तेजी के साथ 58.38 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया.

इसे भी पढ़ेंःकश्मीर को लेकर #Britain का बयान, कहा- मानवाधिकारों के उल्लंघन के आरोपों की होनी चाहिए जांच

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है कि हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें. आप हर दिन 10 रूपये से लेकर अधिकतम मासिक 5000 रूपये तक की मदद कर सकते है.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें. –
%d bloggers like this: